कविताएं और शायरी

कविताएं और शायरी

10.5k फॉलोवर्स
214.6k ने सुना
Mother's Day Special: माँ की ममता Song By Anuj Yadav
Poetry: ऐसे बुरे फंसे कि नानी याद आ गयी By Zakir Khan
होली पर हास्य कवि की 'कोरोना कविता' HOLI SPECIAL
कविता । मैं नारी हूँ । वैभव गुप्ता
कविता | दर्द दिया है | गोपालदास "नीरज"
कविता - मैं और मेरी पत्नी का वार्षिक कैलेंडर
कविता : अपने देश में अपनी ही पहचान छुपा के क्या रहना । अनामिका जैन 'अम्बर'
कविता : आओ फिर से दिया जलाएं | अटल बिहारी वाजपेयी
कविता या दर्द भरी सच्चाई । लक्ष्मी लुहारण | Bharat A Tarachandanii
कविता । मस्त सबको कर गई मेरी ग़ज़ल । रामप्रसाद शर्मा'महर्षि'
कविता : ठुकरा दो या प्यार दो ✍️सुभद्राकुमारी चौहान
कविता । पास तुम्हारे आते आते । ✍️✍️निर्मला 'साधना'
कविता। खुशियां बंद ख़ज़ाने में। रामस्वरूप चौधरी
कविता । गीत का अन्तःकरण | निर्मला 'साधना '
रश्मिरथी | कृष्ण की चेतावनी |  रामधारी सिंह 'दिनकर'
कविता | प्यार वाली हिंदी | रामस्वरूप चौधरी
कविता | बुजुर्गो  की छाव |  हरीश दुबे
कविता । मैंने पल भर के लिए । अमृता प्रीतम
कविता । धन और परिवार । रामस्वरूप चौधरी
सुनिए अटल बिहारी वाजपेयी जी की लिखी कुछ कवितायें
मेरी कलम की स्याही में है भगत सिंह का लहू : कवि श्यामप्रताप सिंह
कविता | नर हो न निराश करो मन को | मैथिलीशरण गुप्त
कविता | पडोसी से | अटल बिहारी वाजपेयी
कविता | ज़माना बदल जायेगा | ख़ालिद आज़मी
ससुराल: रंजना वर्मा
कविता | संसार | महादेवी वर्मा
ग्यारह सितारें । Ramsha Ahmed
नज़्म--हवा --शबाना रोज़
कविता । सब जीवन बीता जाता है ।जयशंकर प्रसाद
कविता । अनोखा दान । सुभद्राकुमारी चौहान
कविता | जीवन का उल्लास | सुमित्रानंदन पंत
कविता | गंध को मैं क्या करूं | निर्मला साधना
कविता | वसीयत | बाबुषा कोहली |
कविता | प्यार के पचड़े | अयोध्या सिंह उपाध्याय हरिऔध
कविता | हार न अपनी मानूँगा मैं | गोपालदास नीरज
कविता | पीर फिर  | निर्मला साधना
कविता | आज का शासक | रामस्वरूप चौधरी
निःशब्द की पहचान  |आनंदवर्धन ओझा |
बांसुरी क्या करे | निर्मला साधना
वीर अभिनंदन पर सहपाठी की यादगार कविता
कविता-अभिनंदन तेरा अभिनंदन है-अनूप पाण्डे
कविता-पाकिस्तान जला देगा ये बच्चा -धर्मेन्द्र
कविता -पुलवामा हमला: नींद खुले सरकारों की--गौरव चौहान
कविता--" दिन ढला नहीं था, रात हुई..."--आनंदवर्धन ओझा
"तुमने तो मोहब्बत की तक़दीर बदल डाली"--आना देहलवी
कविता--"प्यार कहा आराम से मिल पाया है"--सोनू शुक्ला
कविता--"खुबसूरत नही हूँ मैं ?"--निदा सिद्द्की
कविता -- ''तुम कनक किरन"--जयशंकर प्रसाद
कविता --"यादें भाभी की"--रामस्वरूप चौधरी
कविता-"झंकार"--मैथिलीशरण गुप्त
चैनल की जानकारी

कविताएं और शायरी : Shayri Hindi channel from Khabri lets you listen Hindi Shayri online and on Android phone. Hindi poems from best Hindi poets can be heard online on Khabri website and Khabri app. Download Khabri app to listen Shayri Online in Hindi whenever you want. If you are a fan of कविता हिंदी, then you will love this channel, as this channel as latest Hindi shayri, hindi poems, हिंदी कविता , unheard कविताएं from latest and upcoming hindi poets. Daily hindi shayri can be heard on Khabri. If you are a fan of hindi poems and like to listen to hindi shayri online, then you need to subscribe to this hindi shayri channel.

लघु जानकारी

content-cover-image
ताज़ा समाचार सुनने के लिए प्ले करें |ताज़ा समाचार सुनने के लिए प्ले करें |