Unheard

Unheard

1.9k फॉलोवर्स
15.3k ने सुना
 मैं पागल हूँ
सफ़रारोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में हैं
इस दिवाली एक दिया ऐसा जलाये
कागज़ पे कलम
तवाइफ़
तुम्हें सब याद तो हैं ना
जाट एल एल बी
मकान जब घर बने तो महल लगे
मेरी माँ मेरा संसार
 वो इश्क़ ही क्या
ख्वाब गुम हैं
हिंदुस्तान कल भी सबका था हिंदुस्तान आज भी सबका है
ज़िन्दगी तार बन गयी
 ज़िन्दगी को खेल ना समझ
 शक करना हर आदमी पर
 बनारस की सुबह धड़कन
तुम हिंदुस्तान के युवा हो
तो आज़ाद हूँ मैं
 मैं आज़ाद हूँ
मोहब्बत और दोस्ती
जन्नत आबाद हो
 बात वतन की होती हैं
शायर धोखेबाज़
 मैं हूँ इस देश का करदाता
बहुत दूर हो जाऊंगा एक दिन
तुम्हे आज प्यार करलू
 हाँ तो क्या हुआ हम साथ नहीं
पिग्गी बैंक
मैं रावण हूँ
मानो तुम या ना मानो
 ऐसा मुझे मर्द नहीं रहना
खून इ जिगर
बात वतन की होती हैं
मैं मुस्कराता हिन्दुस्तान  हूँ
मैं भी इंसान था
तुम्हे सब याद तो हैं ना
मैं ख़्वाब बड़ा देखता हूँ
हिंदुस्तान कल भी सबका
ज़िन्दगी तार बन गई
मकान जब घर बने
आज भी अपनी शान वही हैं
मैं आज़ाद हूँ
जनता से कह दो
कृष्णा लीला
ऐश्वर्या
दर्द की बरात
 आज उन्ही अपनों में कौन अपना हैं
काश तुमने कह दिया होता
दुनिया सिमट गयो रे
तो मैं तुम्हारे टाइप हूँ
चैनल की जानकारी

Unheard : Expressing Your Inner Voice

लघु जानकारी

content-cover-image
ताज़ा समाचार सुनने के लिए प्ले करें |ताज़ा समाचार सुनने के लिए प्ले करें |