content-cover-image

तेरी ज़ुल्फ़ों को शाम लिख दूंगा -अल्ताफ ज़िया

कविताएं और शायरी

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

तेरी ज़ुल्फ़ों को शाम लिख दूंगा -अल्ताफ ज़िया

तेरी ज़ुल्फ़ों को शाम लिख दूंगा -अल्ताफ ज़िया

Show more
content-cover-image
तेरी ज़ुल्फ़ों को शाम लिख दूंगा -अल्ताफ ज़ियाकविताएं और शायरी