content-cover-image
जानिये दुनिया का सबसे बुद्धिमान व्यक्ति बन्ने के पहले का संघर्ष

बॉलीवुड के किस्से

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

जानिये दुनिया का सबसे बुद्धिमान व्यक्ति बन्ने के पहले का संघर्ष

Albert Einstein ,मानव इतिहास के सबसे बुद्धिमान व्यक्ति मे से थे जो की 20वी सदी के शुरूआती बीस वर्षों तक विश्व के विज्ञान जगत पर छाए रहे . और आज भी पूरी दुनिया में जाने जाते हैं. उन्होंने अपने inventions के आधार पर दुनिया को अन्तरिक्ष , समय और कई सारे principles और theory दिए. आइंस्टीन अपने समय में अत्यंत लोकप्रिय और महान इंसान थे , इतने की जब वो घर से बाहर निकलते तो आस पास लोंगो की भीड़ लग जाया करती थी . लेकिन आपको ये जान कर हैरानी होगी की albert आइंस्टीन हमेशा से इतने बुद्धिमान नहीं थे बल्कि उनको बचपन में तो पढाई में बहोत कमज़ोर होने की वजह से मंदबुद्धि भी कहा जाने लगा था. उनका जन्म 14 मार्च 1879 को जर्मनी के एक परिवार में हुआ था . जब वो पैदा हुए थे तो उनके अन्दर एक ऐसी अनोखी चीज़ थी जो उनको किसी भी और सामान्य बच्चे से अलग बनाती थी क्युकी उनका सर दिखने में किसी भी normal बच्चे से बड़ा था. बचपन में उनको बोलने की भी परेशानी थी, लघभग 4 साल की उम्र तक albert आइंस्टीन कुछ भी नहीं बोल पाए थे. छोटी उम्र में आइंस्टीन को बाकी बच्चो के साथ खेलना बिलकुल पसंद नहीं था बल्कि वो तो हमेशा अपनी दुनिया में खोये रहते थे. बचपन से ही आइंस्टीन का पढ़ाई में कोई interest नहीं था और उनके मन में हर चीज़ को लेकर जिज्ञासा भरी हुयी थी , सब कुछ क्यों और कैसे होता है वो इन् सवालो की खोज में लगे रहते थे. Albert Einstein ने अपने जीवन और कर्मो के ज़रिये लोंगो को दिखा दिया की सिर्फ किताबी ज्ञान होना सफलता नहीं है बल्कि एक मंदबुद्धि कहलयेजानेवाला लड़का भी अपनी मेहनत और लगन के बल पर संसार में कुछ भी कर सकता है.

Show more
content-cover-image
जानिये दुनिया का सबसे बुद्धिमान व्यक्ति बन्ने के पहले का संघर्षबॉलीवुड के किस्से