content-cover-image

गुप्त नवरात्र में गोपनीय रखेंगे अपनी मनोकामनाएं तो ज़रूर होंगी पूरी

बॉलीवुड के किस्से

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

गुप्त नवरात्र में गोपनीय रखेंगे अपनी मनोकामनाएं तो ज़रूर होंगी पूरी

साल में चार नवरात्र होते हैं, जिनमें से दो गुप्त नवरात्र होते हैं. गुप्त नवरात्रि विशेष तौर पर गुप्त सिद्धियां पाने का समय होता है. आमतौर पर लोग सिर्फ दो नवरात्रों के बारे में जानते हैं- चैत्र या वासंतिक नवरात्र और आश्विन या शारदीय नवरात्र लेकिन इसके अलावा दो और नवरात्र भी हैं, जिनमें विशेष कामनाओं की सिद्धि की जाती है. कम लोगों को इसका ज्ञान होने के कारण इसको गुप्त नवरात्र कहते हैं. हम आपको बता दें कि साल में दो बार गुप्त नवरात्रि आती हैं- माघ शुक्ल पक्ष में और आषाढ़ शुक्ल पक्ष में. इनमें विशेष तरह की इच्छा पूर्ति और सिद्धि प्राप्त करने के लिए पूजा और अनुष्ठान किये जाने की मान्यता है. सामान्य नवरात्रि में आमतौर पर सात्विक और तांत्रिक पूजा की जाती है. लेकिन गुप्त नवरात्रि में ज्यादा प्रचार प्रसार नहीं किया जाता अपनी साधना को गोपनीय रखा जाता है. गुप्त नवरात्रि में पूजा मनोकामना जितनी ज्यादा गोपनीय होगी, सफलता उतनी ज्यादा मिलेगी.

Show more
content-cover-image
गुप्त नवरात्र में गोपनीय रखेंगे अपनी मनोकामनाएं तो ज़रूर होंगी पूरीबॉलीवुड के किस्से