content-cover-image
दो सीटों से शुरू हुआ था सफर और 38 वर्ष बाद भाजपा बनी दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी

बॉलीवुड के किस्से

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

दो सीटों से शुरू हुआ था सफर और 38 वर्ष बाद भाजपा बनी दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी

वर्ष 1980 का छह अप्रैल भाजपा की स्थापना का गवाह बन रहा था। भाजपा की स्थापना के बाद हुए पहले पार्टी अधिवेशन में अटल बिहारी वाजपेयी का विश्वास था अथवा उनकी दूरदृष्टि थी कि भाजपा एक दिन अपार सफलता प्राप्त करेगी और उनका कथन आज सत्य की कसौटी पर खरा नजर आता है। हालांकि यह मुकाम भाजपा की स्थापना के तुरंत बाद नहीं मिला, बल्कि यह संघर्षो की यात्र का प्रतिफल है। वर्ष 1980 में वाजपेयी ने जब ऐसा कहा, उसके ठीक बाद हुए आम चुनावों में भाजपा को करारी शिकस्त मिली थी। इंदिरा गांधी की हत्या के बाद 8वीं लोकसभा के लिए हुए आम चुनावों में कांग्रेस ने 400 से ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज करके इतिहास रच दिया था। भाजपा महज दो सीट पर चुनाव जीत सकी थी। लेकिन इसके बाद भाजपा ने 1991, 96, 98 और 99 के आम चुनावों में अपनी सीटों में व्यापक बढ़ोतरी हासिल की थी। आज भाजपा भारत ही नहीं, बल्कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बन चुकी है। यह भाजपा क्रमिक विकास के साथ हुए पीढ़ीगत बदलावों का एक अहम पड़ाव है। मोदी और अमित शाह का दौर भाजपा का अभी तक का सर्वश्रेष्ठ दौर माना जाता है।

Show more
content-cover-image
दो सीटों से शुरू हुआ था सफर और 38 वर्ष बाद भाजपा बनी दुनिया की सबसे बड़ी पार्टीबॉलीवुड के किस्से