content-cover-image

जानिए क्या है जूतों का अस्पताल जहाँ जर्मन तकनीक से किया जाता है इलाज

बॉलीवुड के किस्से

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

जानिए क्या है जूतों का अस्पताल जहाँ जर्मन तकनीक से किया जाता है इलाज

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने जूते की मरम्मत करने वाले एक शख्स को IIM में पढ़ाने का मौका देने की बात कही है. उनके ऐसा कहने की खास वजह है. महिंद्रा को लगता है कि यह शख्स प्रबंधन के छात्रों को मार्केटिंग का चैप्टर अच्छे से पढ़ा सकता है. उन्होंने इस आदमी की तस्वीर अपने ट्विटर अकाउंट पर भी शेयर की है. इस तस्वीर में जूतों की मरम्मत करने वाला शख्स दिखाई दे रहा है. उनके पीछे एक पोस्टर लगा हुआ है जिसमें लिखा है "जख्मी जूतों का अस्पताल" और इस शख्स का नाम लिखा है- डॉ. नरसीराम. अस्पतालों की तरह इसमें काम करने का समय भी अस्पताल के ढंग में ही लिखा है- ओपीडी सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक रहेगी. लंच का समय- दोपहर 1 बजे से 2 बजे तक. लंच के बाद अस्पताल शाम 2 बजे से 6 बजे तक फिर से खुलेगा. इसके साथ ही यह भी लिखा है कि हमारे यहां सभी किस्म के जूतों का इलाज जर्मन तकनीक से किया जाता है. यह तस्वीर सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से वायरल हो रही है. इस शख्स की इस मार्केटिंग तकनीक से आनंद महिंद्रा और कई ट्विटर followers काफी प्रभावित दिख रहे हैं और इसकी काफी प्रशंसा भी कर रहे हैं.

Show more
content-cover-image
जानिए क्या है जूतों का अस्पताल जहाँ जर्मन तकनीक से किया जाता है इलाजबॉलीवुड के किस्से