content-cover-image
इस पौरणिक मान्यता के चलते जानिए, आखिर हिन्दू महिलाए क्यों रखती है सिर पर घूंघट

बॉलीवुड के किस्से

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

इस पौरणिक मान्यता के चलते जानिए, आखिर हिन्दू महिलाए क्यों रखती है सिर पर घूंघट

हमारी भारतीय संस्कृति में महिलाओं को लेकर कई तरह की परम्पराएं है जिसका पालन वो सदियों से करते हुए आई है और जो हमारी संस्कृति की खास पहचान भी मानी जाती है। ऐसा ही कुछ महिलाओं के घूंघट को लेकर भी है. महिला के सिर का घूंघट अपने से बड़ो के सम्मान और मर्यादा का प्रतीक माना गया है . हिन्दू धर्म ग्रंथों में महिलाओं को पर्दे में रहने का कोई उल्‍लेख नहीं है। यहां तक कि पूजा के समय भी सर पर घूँघट रखना जरूरी नहीं है। लेकिन फिर भी भारत में सर को ढकने की मान्यता चलती आई है, दरअसल ये प्रथा महिलाओ की सुरक्षा से जुडी है. पुराने ज़माने में महिलाये खुद को पराये लोंगो की नज़र से बचाने के लिए परदे में रहती थी. वो केवल अपने पति या पिता के सामने ही बेपर्दा होती थी। उस समय में औरतों का मन्ना था की घूँघट कर के वे अन्‍य पुरुषों से सुरक्षित रहेंगी। क्या आपको पता है कि महिलाओं को पर्दे में रखने का रिवाज मुस्लिम शासन के बाद से हुआ है। भारत में राजपूत शासन के दौरान महिलाओं को आक्रमणकारियों के बुरे इरादों से बचाने के लिए उन्हें परदे में रखा जाता था।

Show more
content-cover-image
इस पौरणिक मान्यता के चलते जानिए, आखिर हिन्दू महिलाए क्यों रखती है सिर पर घूंघटबॉलीवुड के किस्से