content-cover-image
मदर्स डे पर महसूस कीजिये, मां कोई औरत नहीं , एक भाव है

बॉलीवुड के किस्से

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

मदर्स डे पर महसूस कीजिये, मां कोई औरत नहीं , एक भाव है

पहली बार मदर्स डे 1908 में अमेरिका में मनाया गया. इसके लिए ऐना जार्विस नाम की एक महिला ने अपनी मां की याद में वर्जीनिया में कार्यक्रम आयोजित किया था. ऐना की मां की मौत 1905 में हुई थी. वह उन घायल सैनिकों का इलाज करती थीं, जो सिविल वॉर में घायल हुए थे. जार्विस अपनी मां के इस काम को पहचान दिलाना चाहती थी. इसलिए उन्होंने इसकी शुरुआत की. लेकिन बाद में एक समय ऐसा भी आया कि ऐना जार्विस खुद इसका विरोध करने लगीं. दरअसल जैसे ही अमेरिका में मदर्स डे को आधिकारिक रूप से पहचान मिली और इसके लिए बाकायदा हॉलिडे घोषित किया गया, इसके बाद निजी कंपनियों ने इसका इस्तेमाल अपने तरीके से शुरू कर दिया. इसके बाद इसके लिए कैंपेन चलाने वाली ऐना ने ही इसका विरोध शुरू कर दिया. मदर्स डे को मनाने की शुरूआत अमेरिका से हुई थी. लेकिन बाद में दूसरे देशों ने भी इसे अपना लिया. कई देशों में इसे अन्य दिनों में भी मनाया जाता है. पर आमतौर पर मदर्स डे मार्च या मई में ही मनाया जाता है.

Show more
content-cover-image
मदर्स डे पर महसूस कीजिये, मां कोई औरत नहीं , एक भाव हैबॉलीवुड के किस्से