content-cover-image

अंगूठे पर बने अर्धचंद्राकार का जाने राज

बॉलीवुड के किस्से

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

अंगूठे पर बने अर्धचंद्राकार का जाने राज

हमारे शरीर के अंग भी हमारे व्यक्तित्व और हमारे गुणों के बारे में बहुत कुछ बताते हैं। आज हम बताते हैं की हमारी उंगलियों के नाखून में अर्धचंद्र बनने का क्या कारण होता है। यह अर्धचंद्र ज्यादातर अंगूठे पर बनता है, जबकि अगूलीयों पर कम बनता है। ज्योतिष शास्त्र में इसका अपना ही मतलब बताया गया है। अंगूठे पर बना अर्धचंद्राकार कुछ खास बातें बताता है। ज्योतिष शास्त्र की नजर से देखें तो जिस व्यक्ति के नाखून में यह सफेद चंद्राकार बनता है। वह शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत होता है। ऐसा व्यक्ति अपने उत्तम स्वास्थ्य का लाभ लेता है। जिस व्यक्ति के नाखून बिल्कुल साफ और सुंदर लालगी लिए हुए शुभता का प्रतीक होते हैं। ऐसे व्यक्ति सुख- समृद्ध और समाज में सम्मानीय समझे जाते हैं।

Show more
content-cover-image
अंगूठे पर बने अर्धचंद्राकार का जाने राजबॉलीवुड के किस्से