content-cover-image
जिस गांव में पड़ता है सूखा, वहां रातोरात करोड़पति बने किसानबॉलीवुड के किस्से
00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

जिस गांव में पड़ता है सूखा, वहां रातोरात करोड़पति बने किसान
कहते हैं ऊपर वाला जब भी देता है तो छप्पर फाड़ कर देता है, इन दिनों यह बात महाराष्ट्र में नांदेड़ के किसानों पर सटीक बैठती है. यहां के हदगांव में 242 किसान परिवार रातोरात करोड़पति बन गए. दरअसल, तुलजापुर से नागपुर नेशनल हाईवे हदगांव तहसील के 7 गांवों से गुज़र रहा है, इस मार्ग पर 5,44,517 हेक्टेयर ज़मीन का अधिग्रहण किया गया है, जिसके बदले में किसानों को मिली रकम करोड़ों में है. मालूम हो कि मराठवाड़ा में आने वाला हदगांव ऐसा इलाका है, जहां पानी की किल्लत कई बरसों से चल रही है. साथ ही फसलों को कम दाम ना मिलने से कई किसान आत्महत्या कर चुके हैं. हदगाव के उपविभागीय अधिकारी महेश वडदकर ने बताया कि गोजेगांव, हदगांव, कवठा, अंबाला, पलसा, बरडशेवला, बामणी, चिंचगवहाण, शिबदरा, मनाठा, चोरांबा, वाकोडा, करमोडी की 69,905 हेक्टेयर ज़मीन अधिग्रहित की गई है. मुआवजे के रूप में किसानों को 79 करोड़ 157 लाख 590 रुपये की रकम बांटी गई है. कुछ किसानों के आपसी विवादों के कारण कुछ मामले प्रलंबित है. जिन किसानो की कम जमीन अधिग्रहित हुई है उन्हें 100 प्रतिशत तक रकम दी गई है. जिनकी ज्यादा जमीन है उन्हें 70 प्रतिशत भुगतान हुआ है, जो जल्द पूरा कर लिया जाएगा.
Show more
content-cover-image
जिस गांव में पड़ता है सूखा, वहां रातोरात करोड़पति बने किसानबॉलीवुड के किस्से