content-cover-image
योग करने से वृद्धावस्था में भी नहीं कम होगी याददाश्तबॉलीवुड के किस्से
00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

योग करने से वृद्धावस्था में भी नहीं कम होगी याददाश्त
लंबे समय तक योग करना मस्तिष्क की संरचना में बदलाव ला सकता है और बुढ़ापे में याददाश्त कम होने के जोखिम को भी कम कर सकता है। अध्ययन के दौरान जब शोधकतरओ ने लंबे समय से योग का अभ्यास करने वाली बुजुर्ग महिलाओं के मस्तिष्क का आकलन किया, तो उन्होंने ऐसी महिलाओं के मस्तिष्क के बाएं prefental cortex में cortical की अधिक मोटाई पाई, जो ध्यान और स्मृति जैसे संज्ञानात्मक चेतनाओं से जुड़ा होता है। म्र बढ़ने के साथ ही मस्तिष्क की संरचना और कार्यक्षमता में बदलाव होता है और इससे अक्सर ध्यान, स्मृति में कमी हो जाती है। इस दौरान मस्तिष्क में एक ऐसा बदलाव होता है, जिसमें सेरेब्रल कॉर्टेक्स पतला हो जाता है, जो वैज्ञानिकों के अनुसार संज्ञानात्मक गिरावट से संबंधित है। और वो कहते हैं कि व्यायाम व योग से जिस तरह मांसपेशियों का विकास होता है, वैसा ही मस्तिष्क के साथ भी हो सकता है.
Show more
content-cover-image
योग करने से वृद्धावस्था में भी नहीं कम होगी याददाश्तबॉलीवुड के किस्से