content-cover-image
पत्नी का एटीएम कार्ड करते हैं इस्तेमाल तो हो जाइए सावधान

बॉलीवुड के किस्से

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

पत्नी का एटीएम कार्ड करते हैं इस्तेमाल तो हो जाइए सावधान

पत्नी के एटीएम से पति पैसे नहीं निकाल सकता है और न ही इससे खऱीदारी कर सकता है। एटीएम से पैसे निकालने के लिए अपना डेबिट कार्ड किसी करीबी रिश्तेदार या दोस्त को देते हैं, तो यह आपको महंगा पड़ सकता है। ठीक उसी तरह जैसे मातृत्व अवकाश के दौरान बेंगलुरू की एक महिला के साथ हुआ है। बैंक का नियम साफतौर पर यह कहता है कि एटीएम कार्ड ट्रांसफर योग्य नहीं है। खाताधारक के अलावा इसका इस्तेमाल कोई और नहीं कर सकता।14 नवंबर 2013 को मराथाहाली की रहनेवाली वंदना ने अपना डेबिट कार्ड और पिन पति राजेश को देकर उससे 25 हज़ार रूपये स्थानीय एसबीआई एटीएम से निकालने को कहा। राजेश ने एटीएम जाकर कार्ड स्वाइप किया। मशीन से डिलिवरी की पर्ची भी निकल आई और अकाउंट से पैसा भी डेबिट हो चुका था। लेकिन, पैसा मशीन से बाहर नहीं आया। एसबीआई ने नॉन ट्रांसफरेबल नियम का हवाला देते हुए कहा कि खाताधारक खुद पैसा नहीं निकाल रहा था इसलिए पैसे पर उसका दावा नहीं बनता है। वंदना ने कोर्ट में करीब साढ़े तीन साल तक कानूनी लड़ाई लड़ी। लेकिन, अंत में कोर्ट ने 29 मई 2018 के अपने आदेश में कहा कि वंदना को एक सेल्फ चेक या अाथराइजेशन लेटर अपने पति को देना चाहिए था, ताकि वह बैंक से 25 हज़ार रूपये निकाल सके, ना कि पैसे निकालने के लिए एटीएम का पिन बताना चाहिए था। इस आधार पर कोर्ट ने केस को खारिज कर दिया। इसलिए आप भी अपने करीबीयों का एटीएम कार्ड यूज़ करने से बचें और इस जानकारी को अत्यधिक लोंगो के साथ शेयर करें.

Show more
content-cover-image
पत्नी का एटीएम कार्ड करते हैं इस्तेमाल तो हो जाइए सावधानबॉलीवुड के किस्से