content-cover-image

स्टूल पर बैठकर ड्राइवर ने चलाई अवध एक्सप्रेस, तय किया 2245 किमी की दूरी

बॉलीवुड के किस्से

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

स्टूल पर बैठकर ड्राइवर ने चलाई अवध एक्सप्रेस, तय किया 2245 किमी की दूरी

रेलवे के विकास की ये एक झलक है। रेलवे ने बांद्रा से चलने वाली अवध एक्सप्रेस के लोको पायलट से 2245 किलोमीटर तक एक प्लास्टिक के स्टूल पर बैठा कर ट्रेन चलवा दी। ट्रेन जब लखनऊ पहुंची तो साथी लोको पायलट भी ये नजारा देख कर दंग रह गए। ये पहला वाक्या नहीं है। इससे पहले हावड़ा जम्मू स्पेशल ट्रेन के इंजन की फटी हुई सीट पर गुम्मे रख कर लोको पायलट से ट्रेन चलवाई जा चुकी है। यात्रियों को उनके गंतव्य तक सुरक्षित पहुंचाने वाले लोको पायलट ही सबसे बदहाल स्थिति में हैं। 50 से 58 डिग्री तक तापमान में ट्रेन संचालन लोको पायलट को खोखला कर रहा है तो सुविधाओं की कमी इन्हें पूरी तरह से तोड़े दे रही है। अभी दो दिन पहले बांद्रा से मुजफ्फरपुर जाने वाली ट्रेन के लोको पायलट के बैठने वाली कुर्सी की जगह पर लाल रंग का एक स्टूल रखा गया था। इस पर बैठ कर लोको पायलट ने बांद्रा से मुजफ्फरपुर तक सफर पूरा किया। रेल कर्मचारियों के मुताबिक इंजन में लगी सीट खराब हो गई थी।

Show more
content-cover-image
स्टूल पर बैठकर ड्राइवर ने चलाई अवध एक्सप्रेस, तय किया 2245 किमी की दूरीबॉलीवुड के किस्से