content-cover-image
14 साल में बनी थी मुगल-ए-आजम, आसिफ ने खर्च कर दी थी सारी दौलत

बॉलीवुड के किस्से

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

14 साल में बनी थी मुगल-ए-आजम, आसिफ ने खर्च कर दी थी सारी दौलत

मशहूर बॉलीवुड फिल्म डायरेक्टर करीमुद्दीन आसिफ ने 3 ही फिल्में निर्देशित कीं जिनमें से एक फिल्म पूरी भी नहीं हो पाई, इसके बाद भी वो अपने काम करने के अंदाज के लिए मशहूर हैं. आसिफ अपनी फिल्म मुगल-ए-आजम से सबसे ज्यादा मशहूर हुए थे. के. आसिफ की पहली फिल्म कुछ खास नहीं कर सकी थी, लेकिन दूसरी फिल्म 'मुग़ल-ए-आज़म' ने इतिहास बना दिया. 'मुग़ल-ए-आज़म' को बनाने में 14 साल लगे थे. ये फिल्म उस वक़्त बननी शुरू हुई जब हमारे यहां अंग्रेजों का राज था. शायद ये एक कारण भी हो सकता है जिसके चलते इसको बनाने में इतना वक़्त लगा. ये उस दौर की सबसे महंगी फिल्म थी, इस फिल्म की लागत तक़रीबन 1.5 करोड़ रुपये बताई जाती है. जो उस समय के हिसाब से बहुत ज्यादा थी. बताया जाता है कि फिल्म के एक गाने 'प्यार किया तो डरना क्या' को फिल्माने में 10 लाख रुपये खर्च किये गए, ये वो उस दौर की वो रकम थी जिसमें एक पूरी फिल्म बन कर तैयार हो जाती थी. वहीँ इस फिल्म के एक और गाने 'ऐ मोहब्बत जिंदाबाद' के लिए मोहम्मद रफ़ी के साथ 100 गायकों से कोरस गवाया गया था. इस फिल्म को बड़ा बनाने के लिए हर छोटी चीज़ पर गौर किया गया था.

Show more
content-cover-image
14 साल में बनी थी मुगल-ए-आजम, आसिफ ने खर्च कर दी थी सारी दौलतबॉलीवुड के किस्से