content-cover-image

जब श्रीदेवी को लेकर भिड़ गए अनिल कपूर और बोनी कपूर

बॉलीवुड के किस्से

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

जब श्रीदेवी को लेकर भिड़ गए अनिल कपूर और बोनी कपूर

बॉलीवुड में अनिल कपूर की फैमिली ऐसी है जहाँ आपसी मतभेद और झगड़ों के मामले कम ही सामने आते हैं. अमिल कपूर, बोन्नी कपूर और संजय कपूर , तीनो भाइयों के बीच काफी अच्छे रिश्तें रहे हैं . बोन्नी कपूर ने बड़े भाई का फ़र्ज़ निभाते हुए दोनों भाइयों के फ़िल्मी करियर को आगे बढ़ाने में काफी बड़ा रोल अदा किया. लेकिन 1985 में एक फिल्म के दौरान कुछ ऐसा वाक्या हुआ जब अनिल कपूर और बोन्नी कपूर श्री देवी को लेकर आपस में ही भिड गए. मिथुन और श्रीदेवी का रिश्ता टूटते ही दोनों के common friend रहे बोन्नी कपूर श्रीदेवी के आस पास मंडराने लगे थे. किसी भी फिल्म के लिए हीरोइन के रूप में श्रीदेवी ही उनकी पहली पसंद हुआ करती थीं. जब बोन्नी ने mr. india बनायीं और श्रीदेवी को ऑफर की तो वो इस फिल्म में काम करने के लिए राज़ी नहीं थीं. बोन्नी के बार बार जोर देने पर श्रीदेवी ने ये फैसला अपनी मम्मी के ऊपर टाल दिया, क्युकी उस वक़्त श्रीदेवी किस फिल्म में काम करेंगी और किस्मे नहीं..ये उनकी मम्मी ही तय किया करती थीं. बोन्नी श्रीदेवी की माँ से मिलने चेन्नई जा पहुंचे लेकिन वहां श्रीदेवी ने इस फिल्म के लिए 10 लाख रुपये की डिमांड रख दी, ताकि बोन्नी खुद ही उन्हें फिल्म में लेने से मन कर दें. लेकिन बोन्नी पर तो जैसे श्रीदेवी का खुमार चढ़ा हुआ था. इसलिए उन्होंने 10 की जगह 11 लाख ऑफर कर श्रीदेवी की बोलती बंद कर दी और मजबूरन उन्हें इस फिल्म का हिस्सा बनना ही पड़ा . बोन्नी के साथ अनिल कपूर ने भी अपनी कमाई का बड़ा हिस्सा invest किया था. ज़ाहिर है इतनी बड़ी रकम देकर श्रीदेवी को sign करना उन्हें खटक रहा था. शूटिंग के दौरान बोन्नी श्रीदेवी को इम्प्रेस करने के लिए पैसा पानी तरह बहा रहे थे, जिसकी वजह से फिल्म ओवर बजट होती जा रही थी. पैसों की ये फ़िज़ूल करची वैसे भी अनिल को रास नहीं आ रही थी, ऐसे में एक दिन जब बोन्नी ने श्रीदेवी की माँ के इलाज के लिए अमेरिका का air टिकेट बुक किया तो अनिल कपूर के सब्र का बाँध टूट गया , और वो सेट पर ही सबके सामने बोन्नी पर चिल्लाने लगे. मामला इतना आगे बढ़ा की अनिल कपूर ने शूट कैंसिल कर दिया और सेट छोड़ कर चले गए. निर्देशक शेखर कपूर के बीच बचाव के बाद अनिल कपूर इस शर्त पर फिल्म करने के लिए राज़ी हुए की production का सारा काम काज वो खुद देखेंगे. फिर क्या था, बोन्नी already इस फिल्म पर इतना पैसा खर्च कर चुके थे की उनके पास और कोई चारा ही नहीं था. खुशकिस्मती से फिल्म जबरदस्त कामयाब रही और इससे अनिल को काफी फायदा मिला. वहीँ, बोन्नी के लिए राहत की बात ये रही की इसके बाद श्रीदेवी ने उन्हें गंभीरता से लेना शुरू कर दिया. और एक दिन दोनों ने शादी कर ली.

Show more
content-cover-image
जब श्रीदेवी को लेकर भिड़ गए अनिल कपूर और बोनी कपूर बॉलीवुड के किस्से