content-cover-image
आईसीएफ ने स्वप्ना पर बरसाया प्यार

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

आईसीएफ ने स्वप्ना पर बरसाया प्यार

भारतीय रेल का उपक्रम इंट्रीगल कोच फैक्ट्री 18वें एशियाई खेल की हेप्टाथलन स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाली पश्चिम बंगाल की स्वप्ना बनर्जी की मदद में सामने आई है । स्वप्ना के दोनों पैर में छह छह उंगलियां हैं जिससे कोई भी जूते उन्हें फिट नहीं आते । स्वप्ना के पिता रिक्शा चला कर परिवार का पेट पालते हैं तो मां चाय बगान में मजदूर हैं । कोच फैक्ट्री के महाप्रबन्धक सुधांशु मणि ने स्वप्ना को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी और फैक्ट्री के खेल विभाग ने अमेरिका की स्पोर्टस आइटम बनाने वाली कंपनी नाईकी से बात कर स्वप्ना के लिए विशेष जूते बनाने का आग्रह किया । आईसीएफ ,स्वप्ना को छह जोडी जूते सौगात में देगी जिसमें तीन जोडी तो उसे एक दो दिन में ही मिल जायेंगे । दोनो पैर में छह छह उंगलियां होने के कारण स्वप्ना को ट्रेनिंग के दौरान भयानक पीडा से गुजरना होता था लेकिन उसने अपने दर्द को जज्बा बनाया ओर ऐसी स्पर्धा में सोना जीता जिसमें अब तक कोई भारतीय एथलीट कोई भी पदक नहीं जीत सका था ।

Show more
content-cover-image
आईसीएफ ने स्वप्ना पर बरसाया प्यार मुख्य खबरें