content-cover-image
राहुल ने माल्या,जेटली मुलाकात के सबूत पेश किए

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

राहुल ने माल्या,जेटली मुलाकात के सबूत पेश किए

पेट्रोल-डीज़ल के बढ़ते दाम और राफेल डील के मुद्दे पर मोदी सरकार पर पहले से ही आक्रामक चल रहे विपक्ष को अरूण जेटली और भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या की मुलाकात का एक और मुद्दा हाथ लगा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरूवार को कहा कि अरुण जेटली ने स्वीकार किया है कि विजय माल्या ने उनसे संसद से अनौपचारिक मुलाकात की थी। वह लंबे ब्लॉग लिखते हैं, लेकिन इस बारे में कुछ नहीं लिखते। अरुण जेटली मुलाकात के बारे में झूठ बोल रहे हैं। राहुल के साथ प्रेस कांफ्रेंस में पीएल पुनिया भी मौजूद थे । उन्होंने कहा कि बजट पेश होने के अगले दिन 1 मार्च को अरुण जेटली और विजय माल्या बात कर रहे थे। दोनों करीब 15-20 बात करते रहे, पहले दोनों खड़े होकर बात कर रहे थे और उसके बाद दोनों वहीं सेंट्रल हॉल में बैठकर बात करने लगे। जब मैंने दो दिन के बाद ही पढ़ा कि माल्या रवाना हो गए हैं, तो मैं हैरान था। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि संसद की सीसीटीवी फुटेज की जांच होनी चाहिए इसके सारी सच्चाई सामने आ जाएगी। राहुल गांधी ने कहा कि इसपर कई तरह के सवाल उठते हैं कि वित्त मंत्री एक भगोड़े से बात करते हैं, और भगोड़ा उन्हें बताता है कि वह देश छोड़ रहा है लेकिन वित्त मंत्री ने ना पुलिस को बताया, ना सीबीआई को। इसके बाद लुकआउट नोटिस में भी ढील दी गई। जेटली को सच बोलना चाहिए और बताना चाहिए कि इसके लिए वो जिम्मेदार हैं, या फिर उन्हें ऊपर से ऑर्डर आ रहे हैं। राहुल ने कहा कि वित्त मंत्री को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए। बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने माल्या के बयान के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली का इस्तीफा मांगा था। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि माल्या की ओर से लगाए गए आरोप बेहद गंभीर हैं और पीएम को तत्काल इस मामले की निष्पक्ष जांच करानी चाहिए। राहुल ने कहा कि जांच पूरी होने तक अरुण जेटली को वित्त मंत्री के पद से इस्तीफा देना चाहिए।

Show more
content-cover-image
राहुल ने माल्या,जेटली मुलाकात के सबूत पेश किए मुख्य खबरें