content-cover-image
कलाकारों के रोजगार की भाषा हिंदी लेकिन कद्र नहीं करते बॉलीवुड के किस्से
00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

कलाकारों के रोजगार की भाषा हिंदी लेकिन कद्र नहीं करते
हाल ही में अक्षय कुमार स्टारर फिल्म 'केसरी' का पोस्टर रिलीज किया गया जिस पर कुछ लोगों ने आपत्ति जताई। पूरे देश में हिंदी दिवस की वजह से हिंदी पखवाड़ा मनाया जा रहा है लेकिन इसी दौरान अक्षय की फिल्म के पोस्टर पर हिंदी भाषा के निरादर का आरोप लगा। दरअसल, पोस्टर पर फिल्म के हिंदी टाइटल को "रोमन लिपि" में लिखा गया था। ये कोई पहली बार नहीं है। हिंदी फिल्मों के पोस्टर्स पर लिखी गई सामग्री रोमन में ही होती है। निर्माता-निर्देशक जिस भाषा में फिल्में बनाकर करोड़ों कमाते हैं, उसी भाषा की लिपि को तवज्जो नहीं देते। यही बात अभिनेता और अभिनेत्रियों पर भी लागू होती है ।सलमान खान तो हिंदी पढ़ना भी नहीं जानते । उन्हें हिंदी के डायलॉग रोमन में लिख के दिये जाते हैं । हालांकि वो अंग्रेजी भी बहुत अच्छी नहीं जानते । हिंदी सिनेमा की फिल्मों में संवाद और गाने तो हिंदी में होते हैं, लेकिन इसके पोस्टर्स और क्रेडिट लाइन अक्सर रोमन में लिखे जाते हैं। अमिताभ बच्चन और रणदीप हुड्डा जैसे गिने-चुने सितारों को छोड़ दें तो हिंदी सिनेमा के ज्यादातर अभिनेता हिंदी में लिखना पसंद नहीं करते। अमिताभ अक्सर अपने सोशल अकाउंट पर हिंदी में लिखते रहते हैं। सनी लियोनी या दक्षिण के उन सितारों की बात समझ में आती है जिन्हें हिंदी समझने या बोलने में दिक्कत होती है लेकिन वो अभिनेता जो हिंदी पृष्ठभूमि से आते हैं - सार्वजनिक मौकों पर हिंदी में बात करने को तवज्जो नहीं देते।
Show more
content-cover-image
कलाकारों के रोजगार की भाषा हिंदी लेकिन कद्र नहीं करते बॉलीवुड के किस्से