content-cover-image

सरकार के बचाव में आई फ्रांसीसी कंपनी

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

सरकार के बचाव में आई फ्रांसीसी कंपनी

फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयान के बाद मचे घमासान के बीच फ्रांसीसी विमानन कंपनी दसॉ ने राफेल सौदे पर रिलायंस समूह और भारत सरकार के रुख की पुष्टि की है. कंपनी ने कहा है कि उसने खुद ही इस सौदे के लिए भारत की कंपनी रिलांयस को चुना है. एक जारी बयान में कंपनी ने कहा है कि रिलायंस समूह को रक्षा प्रक्रिया 2016 नियमों के मुताबिक चुना गया है. दसॉ एविएशन ने कहा कि राफेल सौदा भारत और फ्रांस सरकार के बीच एक अनुबंध था, लेकिन यह एक अलग तरह का अनुबंध था. इसमें दसॉ एविएशन को खरीद मूल्य के 50 फीसदी निवेश भारत में बनाने के लिए प्रतिबद्ध था. इसमें मेक इन इंडिया की नीति के अनुसार दसॉ एविएशन ने भारतीय कंपनी रिलायंस समूह के साथ साझेदारी करने का फैसला किया. यह दसॉ एविएशन की पसंद थी. इस साझेदारी ने फरवरी 2017 में दसॉ रिलायंस एयरोस्पेस लिमिटेड (डीआरएएल) संयुक्त उद्यम के निर्माण की शुरुआत की.

Show more
content-cover-image
सरकार के बचाव में आई फ्रांसीसी कंपनीमुख्य खबरें