content-cover-image
मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं बतायेगा सुप्रीम कोर्ट

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं बतायेगा सुप्रीम कोर्ट

अयोध्या राम मंदिर-बाबरी मस्जिद मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। उच्चतम न्यायालय 27 सितंबर को इस बात पर फैसला सुना सकता है कि मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं। इस फैसले का लम्बे समय से इंतजार था दरअसल, मुस्लिम पक्षकारों की ओर से दलील दी गई है कि इस पर जल्दी निर्णय लिया जाए। इस पर फैसला आने के बाद ही असल मुद्दे पर निर्णय आने की संभावना है। फैसले में कोर्ट बताएगा कि यह मामला संविधान पीठ को रेफर किया जाए या नहीं। सुप्रीम कोर्ट ने 20 जुलाई को इस मुद्दे पर फैसला सुरक्षित रखा था कि संविधान पीठ के इस्माइल फारूकी (1994) फैसले को बड़ी बेंच को भेजने की जरूरत है या नहीं। दरअसल सुप्रीम कोर्ट अयोध्या विवाद में मालिकाना हक के मुकदमे से पहले इस पहलू पर सुनवाई कर रहा था कि मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं।

Show more
content-cover-image
मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं बतायेगा सुप्रीम कोर्टमुख्य खबरें