content-cover-image
अब निराना में भी कैराना जैसे हालात मुख्य खबरें
00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

अब निराना में भी कैराना जैसे हालात
उत्तर प्रदेश का कैराना कभी पलायन के लिए सुर्खियों में था पर अब निराना पलायन के लिए चर्चित हो रहा है। शामली जिले के कस्बा कैराना की तर्ज पर सिखेड़ा क्षेत्र के जिला मुख्यालय से सटे गांव निराना में भी पलायन का मुद्दा चर्चा में आ गया है। निराना की गलियों में मकानों पर लिखा है ‘यह मकान बिकाऊ है’। अचानक एक ही जगह से दस से ज्यादा ग्रामीण अपने घरों पर ‘यह मकान बिकाऊ है’ लिखकर पलायन का ऐलान कर चुके हैं। बहुसंख्यक समुदाय के आधा दर्जन से अधिक परिवारों ने यहां अपने घरों की दीवारों पर मकान ​बिकने की बात लिखकर सनसनी फैला दी है। निराना से लोगों के पलायन के पीछे समुदाय विशेष के कुछ लोगों की गुंडागर्दी और अराजकता का है। इसके पहले भी दो परिवार अपना घर-बार बेचकर गांव से पलायन कर चुके हैं। पुलिस-प्रशासन की लगातार बेरुखी से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। मामले में सिखेड़ा थाना प्रभारी विक्रम सिंह का कहना है कि पुलिस थाने में आने वाली सभी शिकायतों पर कार्रवाई करती है, लेकिन अधिकांश मामलों में ग्रामीण दोनों पक्षों में समझौता करा देते हैं। अब समझौता डर से हुआ या सहमति से, इसकी शिकायत कोई पुलिस से नहीं करता, जिसके चलते इस तरह के मामलों में कार्रवाई सुनिश्चित भी नहीं हो पाती।
Show more
content-cover-image
अब निराना में भी कैराना जैसे हालात मुख्य खबरें