content-cover-image
गांधी भी थे क्रिकेट के दीवाने

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

गांधी भी थे क्रिकेट के दीवाने

आज 2 अक्टूबर यानी गांधी जयंती है और हर कोई अलग-अलग तरीके से गांधी को याद कर रहा है। महात्मा गांधी लब स्कूल में पढ़ते थे तब उन्हें शारीरिक अभ्यास या व्यायाम बिल्कुल पसंद नहीं था लेकिन क्रिकेट के प्रति उनकी दीवानगी थी । 'महात्मा ऑन द पीच: गांधी एंड क्रिक्रेट इन इंडिया' नाम की एक पुस्तक इस बारे में बताती है कि कैसे गांधी इस खेल का आनंद लेते थे। कौशिक बंदोपाध्याय की यह पुस्तक महात्मा गांधी के जुनून का बयां करती हैं। उनके बचपन के एक दोस्त के अनुसार वह न केवल क्रिक्रेट उत्साही थे बल्कि उन पर धुन सवार रहता था। हाईस्कूल में गांधीजी के सहपाठी रतीलाल गेलाभाई मेहता ने उन्हें शानदार क्रिक्रेटर करार देते हुए कहा, 'कई बार हमने साथ क्रिक्रेट खेला है और मुझे याद है कि वह बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में ही अच्छे थे। वैसे उन्हें स्कूल में शारीरिक अभ्यास पसंद नहीं था। उन्होंने एक और रोचक प्रसंग सुनाया. उन्होंने कहा, 'एक बार हम दोनों एक क्रिक्रेट मैच देख रहे थे। उन दिनों राजकोट सिटी और राजकोट सदर की टीमों में जोरदार टक्कर होती थी। उन्होंने कहा, 'मैच में एक अहम मोड़ पर, गांधीजी ने कुछ सोचकर कहा कि फलां खिलाड़ी आउट होगा और वाकई वह आउट हो गया। यह पुस्तक बचपन में गांधीजी की इस खेल के प्रति जुनून से शुरू होती है और भारत में क्रिक्रेट के विकास की गाथा बताती है।

Show more
content-cover-image
गांधी भी थे क्रिकेट के दीवाने मुख्य खबरें