content-cover-image

24 घंटे रखवाली होती है इस पेड़ की

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

24 घंटे रखवाली होती है इस पेड़ की

सुनने में अजीब लग सकता है लेकिन ये सच है कि एक पेड़ ऐसा है जिसकी रखवाली के लिये 24 घंटे पहरा लगता है। जम्‍मू के नगरोटा विधानसभा क्षेत्र मथवार की पंचायत सरोट में शाह हरड़ का पेड़ है, जिसके पास चौबीस घंटे पहरा लगा रहता है। पेड़ करीब डेढ़ सौ वर्ष पुराना है। इस पेड़ की विशेषता यह है कि इसपर लगने वाले फलों की मांग पंजाब से लेकर पाकिस्तान तक है। इसके फलों को चोरी होने से बचाया जा सके इसके लिये पेड़ की पहरेदारी की जाती है। हरड़ के इस पेड़ के फलों से बनाई जाने वाली औषधी कब्ज के मरीजों को दी जाती है। इससे बनाई गई दवाई पंजाब और पाकिस्‍तान में काफी मांग में रहती है। मथवार में लगे पेड़ के फल का आकर अन्य हरड़ के पेड़ों से बड़ा है और इसकी गुणवत्ता भी बाकियों से बेहतर है। आयुर्वेद विशेषज्ञ डॉ. महेश शर्मा और अशोक शर्मा का कहना है कि हरड़ कब्ज के अलावा लीवर और नजर बढ़ाने के लिए भी बहुत लाभकारी है। इसमें लगने वाले एक बड़े फल की कीमत पांच हजार के बीच है। हर वर्ष इस पेड़ की नीलामी की जाती है। यह पेड़ अपनी तरह का पूरे देश में अकेला है। इसके फलों के औषधीय महत्व को देखते हुए ही इसकी मांग अधिक है। इस पेड़ पर हर वर्ष काफी फल लगते हैं। बड़े फल 70 से 80 लगते हैं और यही महंगे दामों पर बिकते हैं।

Show more
content-cover-image
24 घंटे रखवाली होती है इस पेड़ की मुख्य खबरें