content-cover-image

दो महीने बाद केरल पे फिर मंडराता खतरा

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

दो महीने बाद केरल पे फिर मंडराता खतरा

करीब 2 महीने पहले अगस्त में दक्षिण पश्चिम मानसून से तबाह हो चुके केरल में दक्षिण-पूर्व अरब सागर में निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना से और बारिश होने की आशंका है. इसके मद्देनजर राज्य सरकार ने गुरुवार को आपदा प्रबंधन की तैयारी बढ़ा दी. केरल के पड़ोसी राज्य तमिलनाडु ने भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के इस अनुमान के बाद कि राज्य में सात अक्टूबर को ज्यादातर स्थानों पर मूसलाधार बारिश और कुछ स्थानों भयंकर बारिश हो सकती है, कई कदम उठाए हैं. निम्न दबाव का क्षेत्र मजबूत होकर तेज चक्रवाती तूफान का रूप ले सकता है और केरल के कई हिस्सों में मूसलाधार से भयंकर बारिश हो सकती है. आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारियों ने गुरुवार को आपदा प्रबंधन की तैयारी की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को अनुमान को ध्यान में रखकर बांधों में पानी के स्तर की निगरानी करने को कहा. त्रिचूर और पलक्कड़ जिलों में बांधों के दरवाजे अतिरिक्त पानी निकालने के लिए आज शाम खोल दिए गए. समुद्र में स्थिति शनिवार से बहुत खराब रहने की संभावना है ऐसे में मछुआरों को गहराई में नहीं जाने की सलाह दी गई है. दूसरी ओर, चेन्नई में अधिकारियों ने बताया कि तमिलनाडु के जिलाधिकारियों को एहतियाती कदम उठाने का निर्देश दिया गया है. तैयारी की समीक्षा के लिए बैठकें पहले ही बुलाई जा चुकी हैं.

Show more
content-cover-image
दो महीने बाद केरल पे फिर मंडराता खतरा मुख्य खबरें