content-cover-image
बड़े-बड़े नाम घिरे #MeToo कैंपेन में

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

बड़े-बड़े नाम घिरे #MeToo कैंपेन में

तनुश्री दत्ता की ओर से बॉलीवुड एक्टर नाना पाटेकर पर सेक्सुअल हैरासमेंट का आरोप लगाए जाने के बाद इस तरह की और भी कई शिकायतें सामने आ रही हैं. इसे भारत का ‘मी टू कैंपेन’ कहा जा रहा है. अब तक फिल्म, मीडिया, राजनीति और साहित्य की दुनिया से जु़ड़े कई नामचीन लोगों पर सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप लग चुके हैं. अब तक जिन लोगों के खिलाफ महिलाओं ने सेक्सुअल हैरासमेंट का आरोप लगाया है उनमें लेखक चेतन भगत, फिल्म अभिनेता रजत कपूर, विदेश मंत्री राज्य मंत्री एम जे अकबर, फिल्म डायरेक्टर विकास बहल, टाइम्स ऑफ इंडिया के रेजिडेंट एडिटर के आर श्रीनिवास, हिन्दुस्तान टाइम्स के ब्यूरो चीफ प्रशांत झा, लेखक किरन नागरकर, मुंबई में डीएनए के पूर्व संपादक गौतम अधिकारी. पत्रकार अनुराग वर्मा जैसे बड़े नाम शामिल हैं. दरअसल, ये मीटू कैंपेन अमेरिका के मशहूर फिल्ममेकर हार्वे विन्सटीन को लेकर यौन उत्पीड़न और शोषण के दर्जनों मामले सामने आने के बाद से शुरू हुआ. इस घटना से ये हुआ कि महिलाओं ने वर्क प्लेस से लेकर मैसेज, मेल और पब्लिक प्लेस जैसी जगहों पर हुए सेक्सुअल हैरासमेंट की जो बात दशकों से छिपा रखी थीं, उसके बारे में सार्वजनिक तौर पर बताने लगीं. और अब इसी का नतीजा है कि भारत में भी मीटू कैंपेन जोर पकड़ रहा है.

Show more
content-cover-image
बड़े-बड़े नाम घिरे #MeToo कैंपेन मेंमुख्य खबरें