content-cover-image

15 Aug तक घाटी में ही रहेंगे PM के सबसे भरोसेमंद, Doval

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

15 Aug तक घाटी में ही रहेंगे PM के सबसे भरोसेमंद, Doval

जिस दिन केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने अनुच्छेद 370 से जुड़ा बिल राज्यसभा में पेश किया था, उसी दिन राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजित डोभाल (Ajit Doval) भारतीय वायुसेना (IAF) के विमान के ज़रिये श्रीनगर पहुंच गए थे. अब नौ दिन बीतने के बाद भी वह घाटी में ही डेरा डाले हुए हैं, और प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) को लाइव अपडेट भेज रहे हैं. मोदी सरकार में सबसे ताकतवर नौकरशाह इस वक्त राज्य खुफिया विभाग के गुपकार रोड कार्यालय से ऑपरेट कर रहे हैं. राज्य के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है, "उनकी (अजित डोभाल की) मौजूदगी ने बलों के बीच समन्वय सुनिश्चित कर दिया है..." ईद के शांतिपूर्वक बीत जाने के बाद NSA ने जम्मू एवं कश्मीर पुलिस तथा CRPF से बातचीत की, और कानून एवं व्यवस्था को बनाए रखने के लिए उनके द्वारा लम्बे-लम्बे समय तक की जा रही ड्यूटी की सराहना भी की. दरअसल, पिछले कुछ दिनों में अजित डोभाल ने आतंकवाद के लिहाज़ से संवेदनशील सभी जिलों - शोपियां, पुलवामा और अनंतनाग - का दौरा किया है. यहां रायसीना हिल्स में मौजूद नौकरशाहों का भी कहना है कि प्रधानमंत्री ने एक रणनीतिक फैसले के तहत अपने सबसे भरोसेमंद 'लेफ्टिनेंट' को वहां भेजा, ताकि सही जानकारी सीधे हासिल हो सके तथा हालात के हिसाब से सुरक्षा संबंधी फैसले भी जल्द से जल्द लिए जा सकें, और उन्हें समय गंवाए बिना लागू भी किया जा सके. अजित डोभाल 15 अगस्त तक घाटी में ही रहेंगे.

Show more
content-cover-image
15 Aug तक घाटी में ही रहेंगे PM के सबसे भरोसेमंद, Dovalमुख्य खबरें