content-cover-image

Imran के भाषण में छाया रहा भारत, हमारे PM ने पाक का नाम तक न लिया

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Imran के भाषण में छाया रहा भारत, हमारे PM ने पाक का नाम तक न लिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 73वें स्वतंत्रता दिवस पर गुरुवार को लाल किले की प्राचीर से भाषण दिया. ब्रिटिश हुकूमत से 15 अगस्त 1947 को भारत को स्वतंत्रता हासिल हुई थी. पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस एक दिन पहले यानी 14 अगस्त को मनाता है. प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले से स्वतंत्रता दिवस पर भाषण दिया तो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को मुजफ्फराबाद में पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) की असेम्बली में अपना भाषण दिया. इमरान खान के भाषण का अधिकतर हिस्सा भारत और पीएम मोदी पर निशाना साधने में रहा. अपने भाषण में इमरान ने कश्मीर का भी बहुत बार उल्लेख किया. वहीं पीएम मोदी ने अपने 92 मिनट के भाषण में एक बार भी पाकिस्तान या इमरान खान के नाम का जिक्र नहीं किया. पीएम मोदी ने अफगानिस्तान को बधाई दी जो 19 अगस्त को अपना 100वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है. इंडिया टुडे के डेटा इंटेलीजेंस यूनिट (DIU) ने दोनों प्रधानमंत्रियों के भाषण में बोले गए शब्दों का तुलनात्मक विश्लेषण किया. पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के स्वतंत्रता दिवस भाषण में 'कश्मीर' ही छाया रहा. साथ ही भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर इमरान की घबराहट-बेचैनी भी उनके भाषण में खूब दिखी. इमरान ने 'पाकिस्तान' शब्द का इस्तेमाल 12 बार किया जो भाषण में बोले गए ‘कश्मीर’ शब्द से काफ़ी कम था. ऐसा पीएम मोदी के भाषण में नहीं दिखा, उन्होंने किसी भी भौगौलिक क्षेत्र की तुलना में भारत का अधिक बार नाम लिया. पीएम मोदी के गुरुवार को दिए स्वतंत्रता दिवस भाषण में नागरिक शब्द सबसे ज्यादा 47 बार आया. इसके बाद 'स्वतंत्रता', 'पानी', 'गरीब', 'आतंकवाद', किसान 'अनुच्छेद 370' और 'पर्यटन' और सेना का जिक्र आया. जिन शब्दों का मोदी के भाषण में सबसे अधिक बार जिक्र हुआ वो उनसे जुड़े मोदी के दृष्टिकोण की भी झलक दिखलाता है. जैसे कि मोदी ने सभी के लिए पेयजल उपलब्ध कराने के मिशन 'जल जीवन' का जिक्र किया तो 'पानी' शब्द का भाषण में बहुत बार इस्तेमाल किया. इस मिशन पर 3.5 लाख करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे.

Show more
content-cover-image
Imran के भाषण में छाया रहा भारत, हमारे PM ने पाक का नाम तक न लियामुख्य खबरें