content-cover-image

उमराव जान जैसी फिल्मों के संगीतकार नहीं रहे, 92 वर्ष की उम्र में निधन

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

उमराव जान जैसी फिल्मों के संगीतकार नहीं रहे, 92 वर्ष की उम्र में निधन

कभी-कभी’ और ‘उमराव जान’ जैसी फिल्मों के संगीतकार खय्याम का सोमवार रात निधन हो गया। 92 वर्षीय खय्याम साहब लंग्स में इन्फेक्शन के चलते पिछले कुछ दिनों से बीमार थे और मुंबई के सुजय अस्पताल के आईसीयू में भर्ती थे। वे पद्म भूषण और संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से सम्मानित थे। 90वें जन्मदिन पर खय्याम साहब ने बॉलीवुड को एक अनोखा रिटर्न गिफ्ट दिया था। उन्होंने जीवन भर की कमाई को एक ट्रस्ट के नाम करने का ऐलान किया था। तकरीबन 12 करोड़ रुपए की रकम ट्रस्ट को दी गई। इस पैसे से जरूरतमंद कलाकारों की मदद की जाने लगी। गजल गायक तलत अजीज और उनकी पत्नी बीना को मुख्य ट्रस्टी बनाया गया। खय्याम ने कभी-कभी, उमराव जान, त्रिशूल, नूरी, बाजार, रजिया सुल्तान जैसी फिल्मों के संगीत दिया। ‘इन आंखों की मस्ती के', ‘बड़ी वफा से निभाई हमने...', ‘फिर छिड़ी रात बात फूलों की' जैसे गीत रचने वाले खय्याम ने निजी जिंदगी में कई मुश्किलों का सामना किया। द्वितीय विश्वयुद्ध में वे एक सिपाही के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। पंजाब के नवांशहर में जन्मे मोहम्मद जहूर खय्याम ने करियर की शुरुआत 1947 में की थी।

Show more
content-cover-image
उमराव जान जैसी फिल्मों के संगीतकार नहीं रहे, 92 वर्ष की उम्र में निधनमुख्य खबरें