content-cover-image

Chidambaram के घर पर डटी CBI, SC में सुनवाई

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Chidambaram के घर पर डटी CBI, SC में सुनवाई

कांग्रेस के कद्दावर नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम पर कानूनी शिकंजा कसता जा रहा है. मंगलवार दोपहर से ही उनपर गिरफ्तारी की तलवार लटकी है और ईडी-सीबीआई उनके घर का चक्कर काट रही है. दिल्ली हाईकोर्ट से INX मीडिया केस में राहत ना मिलने के बाद से ही चिदंबरम गायब हैं, उनका फोन भी स्विच ऑफ है. अब बुधवार को उनके वकील अंतरिम जमानत की अपील लिए सुप्रीम कोर्ट का रुख कर सकते हैं. दरअसल, INX मीडिया केस में मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने पी. चिदंबरम को अंतरिम जमानत देने से इनकार कर दिया. कोर्ट से चिदंबरम को झटका लगा, तो ईडी-सीबीआई उनकी गिरफ्तारी के लिए तैयार खड़ी थीं. पहले सीबीआई उनके घर पहुंची और फिर ईडी, लेकिन चिदंबरम घर पर नहीं मिले. दिल्ली हाईकोर्ट से झटका लगा तो चिदंबरम की तरफ से सुप्रीम कोर्ट का रुख किया गया. लेकिन अदालत ने मंगलवार शाम मामला सुनने से इनकार किया, अब बुधवार सुबह 10.30 बजे उनके मामले की सुनवाई होनी थी. पी. चिदंबरम ने मंगलवार को ही पार्टी नेता और वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी और सलमान खुर्शीद से मुलाकात की थी. पी. चिदंबरम पर INX मीडिया को फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रोमोशन बोर्ड से गैरकानूनी रूप से स्वीकृति दिलाने के लिए रिश्वत लेने का आरोप है. इस केस में अभी तक चिदंबरम को कोर्ट से करीब दो दर्जन बार अंतरिम प्रोटेक्शन यानी गिरफ्तारी पर रोक की राहत मिली हुई है. ये मामला 2007 का है, जब चिदंबरम देश के वित्त मंत्री के पद पर थे. 2017 में CBI ने इस मामले में फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रोमोशन बोर्ड से मिली स्वीकृति में गड़बड़ी पर FIR दर्ज की. जबकि ED ने 2018 में मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया. इस मामले में आईएनएक्स मीडिया की मालकिन और आरोपी इंद्राणी मुखर्जी को इस केस में अप्रूवर बनाया गया और इसी साल उनका स्टेटमेंट भी रिकॉर्ड किया गया. CBI के मुताबिक मुखर्जी ने गवाही दी कि उसने कार्ति चिदंबरम को 10 लाख रुपये दिए. की टीम एक बार फिर पी. चिदंबरम के घर पहुंची है. बुधवार सुबह-सुबह सीबीआई की टीम पूर्व वित्त मंत्री के घर पहुंची. सीबीआई और ईडी कल रात से ही उनकी तलाश में हैं.

Show more
content-cover-image
Chidambaram के घर पर डटी CBI, SC में सुनवाईमुख्य खबरें