content-cover-image

Delhi: इंच-इंच बढ़ रहा बाढ़ का खौफ

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Delhi: इंच-इंच बढ़ रहा बाढ़ का खौफ

हथिनीकुंड बैराज से छोड़े गए पानी की वजह से राजधानी दिल्ली में यमुना नदी उफान पर है। बढ़े पानी के स्तर से आज राहत मिलने के आसार हैं, लेकिन फिलहाल के लिए लोगों की मुश्किलें बढ़ी हुई हैं। कुछ रास्ते बंद कर दिए गए हैं, कई लोगों को tents में शिफ्ट किया गया है। बाढ़ की वजह से दिल्ली में पानी की सप्लाई पर भी असर पड़ा है। यमुना नदी में आज सुबह 7 बजे जलस्तर 206:60 मीटर था। आज दोपहर तक जलस्तर 207 मीटर पार जा सकता है। इसे देखते हुए पुराने लोहे के पुल को बंद कर दिया गया। निगम बोध घाट भी यमुना के पानी में डूब चुका है। यमुना में आई बाढ़ की वजह से इस समय यमुना के पानी में गंदगी या टरबिडिटी अधिक है। पानी में मिट्टी के अलावा भी कई चीजें घुलकर आ रही हैं। जिसकी वजह से दिल्ली के दो प्लांट में पंपिंग नहीं हो पा रही है। इसके चलते आज से पूरी दिल्ली में पानी की किल्लत हो सकती है। प्रशासन ने निचले इलाकों को खाली कराने का अभियान मंगलवार से और तेज कर दिया है, लेकिन मयूर विहार, डीएनडी, गीता कॉलोनी और आईटीओ के आस-पास के इलाकों में कई लोग अब भी अपनी झुग्गियों में ही रह रहे हैं। उनका कहना था कि जब पानी उनके घर के नजदीक आएगा, तो वो tent में चले जाएंगे। अभी वे अपना घर नहीं छोड़ना चाहते। लेकिन जिनके पास भैंस, बकरियां, ऊंट आदि जानवर भी हैं, उन्हें यह चिंता सता रही है कि उनके पालतू पशु कहां जाएंगे। यमुना में पानी बढ़ने की वजह से एहतियातन लोहे के पुल पर रेल यातायात रोक दिया गया है, जिसकी वजह से लंबी दूरी की ट्रेनों को आनंद विहार, तिलक ब्रिज, नई दिल्ली होते हुए पुरानी दिल्ली पहुंचाया जा रहा है। कुछ EMU को रद्द भी करना पड़ा है। रूट बदलने की वजह से सफर लंब बी हुआ। शिवाजी ब्रिज पहुंची मसूरी एक्सप्रेस लेट हुई। ये देहरादून से पुरानी दिल्ली आती है। करीब 20 किमी का सफर 1:30 घंटे में तय किया। यानी की बाढ़ आने के संकेत से ही दिल्लीवालों को परेशानी ने हर तरफ से घेरा हुआ है.

Show more
content-cover-image
Delhi: इंच-इंच बढ़ रहा बाढ़ का खौफमुख्य खबरें