content-cover-image

तीसरी कक्षा में पहुंचा Chandrayaan-2, चांद के और पास

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

तीसरी कक्षा में पहुंचा Chandrayaan-2, चांद के और पास

चंद्रयान-2 ने बुधवार सुबह 9.04 बजे चांद की तीसरी कक्षा में प्रवेश कर लिया। अब यह अगले 2 दिनों तक इसी कक्षा में चांद के चक्कर लगाएगा। इसके बाद 30 अगस्त को चौथी और 1 सितंबर को पांचवी कक्षा में प्रवेश करेगा। दो सितंबर को विक्रम लैंडर और प्रज्ञान रोवर यान से अलग हो जाएंगे। विक्रम लैंडर 7 सितंबर को चांद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा। 20 अगस्त को चंद्रयान-2 चांद की कक्षा में पहुंचा था। कक्षा में पूरी तरह स्थापित होने में इसे करीब आधा घंटा लगा। 23 दिन पृथ्वी के चक्कर लगाने के बाद चंद्रमा की कक्षा में पहुंचने में इसे 6 दिन लगे।फिलहाल चंद्रयान-2 और चांद के बीच न्यूनतम 200 किमी की दूरी है। चंद्रयान-2 ने 26 अगस्त को दूसरी बार चांद की तस्वीरें भेजी थीं। चांद की कक्षा में पहुंचने के बाद ऑर्बिटर एक साल तक काम करेगा। इसका मुख्य उद्देश्य पृथ्वी और लैंडर के बीच कम्युनिकेशन करना है। ऑर्बिटर चांद की सतह का नक्शा तैयार करेगा, ताकि चांद के अस्तित्व और विकास का पता लगाया जा सके। वहीं, लैंडर और रोवर चांद पर एक दिन (पृथ्वी के 14 दिन के बराबर) काम करेंगे। लैंडर यह जांचेगा कि चांद पर भूकंप आते हैं या नहीं। जबकि, रोवर चांद की सतह पर खनिज तत्वों की मौजूदगी का पता लगाएगा।

Show more
content-cover-image
तीसरी कक्षा में पहुंचा Chandrayaan-2, चांद के और पासमुख्य खबरें