content-cover-image

Rajasthan Regional News 3rd September

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Rajasthan Regional News 3rd September

आमजन और सरकार को स्वाइन फ्लू, डेंगू व स्क्रब टाइफस से निजात नहीं मिल पा रही। इससे पहले ही क्रीमियन कांगो हेमरेजिक फीवर ने पांव पसार लिए हैं। जोधपुर में क्रीमियन कांगो फीवर के दो संदिग्ध मरीज मिलने पर चिकित्सा विभाग ने डॉक्टरों की टीम को जोधपुर भेजा है।बीकानेर से भी सैंपल एकत्र किए जा रहे हैं। डॉक्टर्स का कहना है कि कांगो फीवर के लक्षण डेंगू जैसे होने से इसकी पहचान हो पा रही है। यह बीमारी डेंगू की तुलना में ज्यादा खतरनाक है, इसलिए इसे ‘मौत का वायरस’ के नाम से जाना जाता है। इसमें सामान्य बुखार के 3-4 दिन बाद नाक, आंख और मुंह से खून आता है। गुजरात में इस बीमारी से अब तक 3 मौतें हो चुकी हैं। कृषि उपज मंडियों की हड़ताल मंगलवार को भी जारी रही। जिसका असर पूरे राज्य में देखने को मिल रहा है। बैंक खाते से एक साल में एक करोड़ से अधिक की नगद राशि निकालने पर दो फीसदी टीडीएस काटने के विरोध में तीन दिन मंडियां बंद रखने का आह्वान किया गया है। व्यापार बंद के कारण प्रदेश की कृषि उपज मंडियों में करीब 1600 करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित होने का अनुमान है। संघ के चेयरमैन बाबूलाल गुप्ता ने बताया कि तीन दिन की हड़ताल के बावजूद भी व्यापार विरोधी नीतियों को वापस नहीं लिया गया तो 11 सितंबर को पदार्थ व्यापार संघ की आम सभा बुलाकर आंदोलन की आगे की रणनीति पर निर्णय किया जाएगा। राज्य की सभी मंडी के व्यापारियों को कहा गया है कि अगले निर्णय तक दुकान का माल खाली करके तैयार रहे। जम्मू कश्मीर में पुंछ जिले में एलओसी पर गोलाबारी में शहीद हुए हेमराज जाट का पार्थिव शरीर मंगलवार को उनके पैतृक गांव पहुंचा। जहां पूरे सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। शहीद के भतीजे चेतन ने उन्हे मुखाग्नि दी। इस दौरान बड़ी संख्या में लोग शहीद हेमराज को श्रद्धांजली देने पहुंचे। जिसमें विधायक सतीश पूनिया भी शामिल रहे। अंतिम संस्कार से पहले हेमराज जाट को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इस दौरान आर्मी के कई अधिकारी मौके पर मौजूद रहे।इससे पहले जयपुर पहुंचने पर भी शहीद को एयरपोर्ट पर गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इस दौरान सैना के अधिकारी, विधायक प्रताप सिंह खाचरियावास मौजूद रहे। बता दें कि रविवार को एलओसी पर मोर्टार के गोले दागे गए, जिसमें जवान हेमराज जाट शहीद हो गए थे। वे 4 बटालियन में ग्रेनेडियर के तौर पर पुंछ में तैनात थे।

Show more
content-cover-image
Rajasthan Regional News 3rd Septemberमुख्य खबरें