content-cover-image

कश्मीरियों को भड़काने गए पाक नेताओं का उल्टा पड़ा दांव, पड़े अंडे-जूते

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

कश्मीरियों को भड़काने गए पाक नेताओं का उल्टा पड़ा दांव, पड़े अंडे-जूते

कश्मीर मुद्दे को पाकिस्तान किसी भी सूरत में अपने हाथ से निकलते हुए नहीं देखना चाहता। इसी कारण वह हर अतंरराष्ट्रीय मंच पर इसका राग अलाप रहा है लेकिन उसकी आशाओं के विपरीत कोई भी उसका साथ देने को तैयार नहीं है। हर जगह अपनी फजीहत कराने के बाद भी पाकिस्तान को चैन नहीं आ रहा है। ऐसा ही कुछ मंगलवार को लंदन में हुआ। जहां पाकिस्तानी नेता भारत विरोधी अभियान को भड़काने पहुंचे थे मगर उनकी उम्मीदों के इतर लोगों ने उनपर जूते और अंडे फेंक दिए। उनका मानना था कि पाकिस्तान अपने मतलब के लिए उनके प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर रहा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी जुल्फी बुखारी कश्मीर मुद्दे पर लोगों को संबोधित करने के लिए पहुंचे थे। उनके साथ चार पाकिस्तानी नेता भी मौजूद थे। वह लंदन में भारत विरोधी अभियान को हवा देने के लिए पहुंचे थे। ब्रिटिश पाकिस्तानी और खालिस्तान समर्थक सिखों ने पार्लियामेंट स्कवायर से भारतीय उच्चायोग तक कश्मीर फ्रीडम मार्च निकाला। इस मार्च का आयोजन यूके में मौजूद जेकेएलएफ ने किया जिसके अध्यक्ष यासीन मलिक हैं। जम्मू कश्मीर नेशनल अवामी पार्टी, यूके और जम्मू कश्मीर नेशनल स्टूडेंट फेडरेशन ने भी मार्च में हिस्सा लिया। लेकिन प्रदर्शनकारी पाकिस्तानी नेताओं की मौजूदगी से नाखुश दिखाई दिए। प्रदर्शनकारियों ने पाक नेताओं को न केवल भाषण देने से रोका बल्कि उनकी उपस्थिति पर आपत्ति भी जताई। इमरान खान ने बैरिस्टर तहरीक ए इंसाफ के पाक अधिकृत कश्मीर के अध्यक्ष सुल्तान महमूद चौधरी को कश्मीरी लोगों को संबोधित करने के लिए भेजा था। उन्हे झंडे के डंडे से पीटा गया और उन्हें वहां से भगा दिया गया।

Show more
content-cover-image
कश्मीरियों को भड़काने गए पाक नेताओं का उल्टा पड़ा दांव, पड़े अंडे-जूतेमुख्य खबरें