content-cover-image

Teacher's Day Spl: खेल जगत का द्रोणाचार्य, जिसने बनाए कई अर्जुन

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Teacher's Day Spl: खेल जगत का द्रोणाचार्य, जिसने बनाए कई अर्जुन

“जब मैं संन्यास लूंगा तब मैं बहुत खुशी महसूस करूंगा, मैं जो करना चाहता था, वह मैं कर चुका हूं. इन बच्चों के अंदर वह काबिलियत है कि वे आगे जाकर मेडल जीत सकते हैं. जब मेरी कोई तारीफ करता है तो मैं खुश होता हूं और जब मेरी कोई आलोचना करता है तो मैं उसे चुनौती के रूप में लेता हूं और अपने काम के जरिये जवाब देता हूं.” भारत के सबसे बेहतरीन बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद ने कुछ साल पहले एक इंटरव्यू के दौरान यह कहा था.आज ऐसा लगता है कि गोपीचंद का सपना पूरा हो चुका है. पहले साइना, फिर सिंधु ओलिंपिक में अपने शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारत का मान पूरी दुनिया में बढ़ाने में कामयाब रही हैं. 2012 लंदन ओलिंपिक में साइना नेहवाल ने इतिहास रचते हुए बैडमिंटन में भारत के लिए पहला पदक जीता था. फिर 2016 में पीवी सिंधु ने भी इतिहास रचा . फाइनल में स्‍पेन की कैरोलिना मारिन के खिलाफ हालांकि सिंधु को हार का सामना करना पड़ा, लेकिन वे सिल्‍वर मेडल जीतकर ओलिंपिक में यह उपलब्‍धि हासिल करने वाली देश की पहली महिला खिलाड़ी बनने में कामयाब रहीं थी. अपने खिलाड़ियों की काबिलियत पर विश्वास के चलते इस साल के आरम्भ में भारतीय बैडमिंटन टीम के राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद ने उम्मीद जताई थी कि आगामी ऑल इंग्लैंड खिताब को कोई भारतीय खिलाड़ी जीत कर 18 साल से चला आ रहा सूखा खत्म करेगा। गोपीचंद इस खिताब को जीतने वाले आखिरी भारतीय खिलाड़ी हैं, जिन्होंने यह कारनामा 2001 में किया था। उन्होंने कहा था कि 2019 मार्च में ऑल इंग्लैंड चैम्पियनशिप और अगस्त में विश्व चैम्पियनशिप बड़ी प्रतियोगिताएं हैं। किदांबी श्रीकांत, साइना नेहवाल और पीवी सिंधु के प्रदर्शन पर उन्हें अटूट भरोसा है और इस पूर्व भारतीय खिलाड़ी ने कहा कि ये तीनों खिलाड़ी ऑल इंग्लैंड में अच्छा प्रदर्शन करेंगे । हाँ, अच्छा प्रदर्शन तो ज़रूर हुआ लेकिन सपना तब अधूरा रह गया जब बर्मिंघम में खेले गए ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन में जापान की अकाने यामागुची ने सिंधु को बेहद कड़े मुक़ाबले में शिकस्त दी. लेकिन कहते हैं न कि अगर सितारा हाथ ना आये तो समझो तुम्हारी तकदीर में चाँद लिखा है. ऐसा ही हुआ PV सिंधु के साथ, जब उन्होंने गोपीचंद को ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन से बड़ा तोहफा दिया पहला BFW वर्ल्ड टूर फ़ाइनल जीत कर.

Show more
content-cover-image
Teacher's Day Spl: खेल जगत का द्रोणाचार्य, जिसने बनाए कई अर्जुनमुख्य खबरें