content-cover-image

क्या है Soft Landing, जिसकी कोशिश Chandrayaan 2 ने की...

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

क्या है Soft Landing, जिसकी कोशिश Chandrayaan 2 ने की...

शुक्रवार की रात 12 बजे चंद्रयान 2 ने चाँद पर उतरने की कोशिश की, चंद्रयान 2 की इस कोशिश को सॉफ्ट लैंडिंग कहा जाता है. इस काम को चंद्रयान 2 में लगा विक्रम लैंडर कर रहा था. लेकिन सॉफ्ट लैंडिंग के दौरान विक्रम का संपर्क इसरो से टूट गया. तो आज हम आपको बताएँगे की सॉफ्ट लैंडिंग आखिर है क्या, सॉफ्ट लैंडिंग की प्रक्रिया बेहद्द जटिल होती है. कल्पना कीजिये एक स्पेसक्राफ्ट की, जो प्लेन की रफ़्तार से 10 गुना तेज़ी से स्पेस में दौड़ रहा है. धरती पर उतरने के लिए उसे अपनी रफ़्तार को चाँद मिनटों में बेहद कम करना है. इसे ही कहते हैं सॉफ्ट लैंडिंग। चाँद पर लैंड करने से पहले विक्रम की रफ़्तार 21600 km प्रती घंटा है थी. सॉफ्ट लैंडिंग के वक़्त इसे रफ़्तार को 7 km प्रति घंटा करनी थी. ये पूरी प्रक्रिया 15 मिनट में पूरी होनी चाहिए थी. किसी भी लैंडर के लिए रफ़्तार कम करना एक बड़ी चुनौती होती है. यहां तक हवाई जहाज भी लैंड करते वक़्त अपनी स्पीड बेहद कम करता है. पैराशूट से नीचे उतारते वक़्त भी हमें रफ़्तार कम करनी होती है. ऐसा नहीं करने पर दुर्घटना की आशंका बढ़ जाती है. ०  .

Show more
content-cover-image
क्या है Soft Landing, जिसकी कोशिश Chandrayaan 2 ने की...मुख्य खबरें