content-cover-image

Chhattisgarh Regional News 9th September

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Chhattisgarh Regional News 9th September

दशहरा उत्सव के दौरान अमृतसर में पिछले साल हुए दर्दनाक हादसे के बाद रेलवे ने डब्लूअारएस मैदान पर दशहरा उत्सव के लिए लगाया गया प्रतिबंध सशर्त वापस ले लिया था। अमृतसर में पटरी पर बैठकर रावणदहन देख रहे लोगों को ट्रेन काटती हुई निकल गई थी। हादसे में 50 मौतों के बाद रेलवे पूरे देश में ऐसे मैदान और स्थलों पर उत्सव प्रतिबंधित किए थे, जिनमें भीड़ लगती है और ट्रेनें भी गुजरती हैं। उसी कड़ी में रायपुर रेलवे ने भी डब्लूअारएस में दशहरा उत्सव पर कड़े प्रतिबंध लगाते हुए तत्कालीन दशहरा उत्सव समिति से भी सहमति ले ली थी। लेकिन इस बार समिति के नए पदाधिकारियों ने रेलवे से 8 अक्टूबर को इसी मैदान पर दशहरा उत्सव की सशर्त अनुमति दे दी है। राजधानी में डब्ल्यूआरएस का दशहरा मशहूर है। प्रदेश के कई शहरों से लोग डब्ल्यूआरएस मैदान में रावण दहन देखने आते रहे हैं। शहर के ठाकुर रोड में दो दुकानों में लगी आग शनिवार को बुझ गई लेकिन रविवार की सुबह अचानक फिर इन दुकानों से धुंआ निकलने की खबर के बीच पानी डालकर बची कुची आग को शांत किया गया। इस मामले में पुलिस ने रविवार को ही दुकान संचालकों के बयान लेने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। दोपहर को ओम फैंसी स्टोर के संचालक को पुलिस ने बयान के लिए थाने में बुलाया था।संचालक ने यहां आग के संबंध में और नुकसान के संबंध में अपना बयान दर्ज कर लिया है। इसके अलावा अजय फैंसी स्टोर के संचालक को भी पुलिस ने बयान के लिए बुलाया है। बयानों की प्रक्रिया के बाद दस्तावेजों की जांच होगी और मामले में आगजनी का केस दर्ज होगा। इसके अलावा लापरवाही और अवैध विस्फोटक रखने का एक मामला अलग से कायम किया जाएगा। राजधानी की लाइफलाइन खारुन में मिलनेवाले तथा अाउटर में चारों तरफ से गुजरनेवाले अाधा दर्जन से ज्यादा नाले लगभग 65 किमी की सफाई और कब्जे हटाने की वजह से बरसों बाद पहने लगे हैं, यानी पानी चल रहा है। इसमें कुछ ऐसे नाले जीवित किए गए हैं, जो लुप्त हो गए थे और बरसों से इनमें बारिश में भी पानी नहीं चलता था। सभी नाले प्राकृतिक हैं और दो दशक पहले तक गर्मी में भी पानी के लिए जाने जाते थे। प्रशासन ने यह काम तीन माह पहले उस सर्वे रिपोर्ट के अाधार पर शुरू किया था, जिसमें कहा गया था कि अगर राजधानी से गुजरनेवाले और अाउटर के नालों को साफ कर फिर पानी बहने का रास्ता बनाया जाए तो इससे शहर के ग्राउंड वाटर और खारुन में सफाई के मामले में खासी मदद मिलेगी।

Show more
content-cover-image
Chhattisgarh Regional News 9th Septemberमुख्य खबरें