content-cover-image

Conference छोड़, इनके लिए तो Dinner सबसे ज़रूरी !

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Conference छोड़, इनके लिए तो Dinner सबसे ज़रूरी !

हाल के कुछ दिनों में पाकिस्तान के पीएम से लेकर मंत्री तक अपने बेसिर-पैर के बयानों के कारण अपने देश को असहज स्थिति में तो डाल ही रहे हैं अब इसमें वहां के अधिकारियों का भी नाम शामिल हो गया है। पाकिस्तान के प्रतिनिधियों ने दिल्ली मे आयोजित शंघाई को-ऑपरेशन ऑर्गनाइजेश यानी SCO के मिलिटरी मेडिसिन कॉन्फ्रेंस के पहले दिन शिरकत नहीं की लेकिन डिनर करने पहुंच गए। इससे पाकिस्तान की काफी किरकिरी हो रही है। भारतीय सेना के सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान के प्रतिनिधियों ने शंघाई को-ऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन के दो दिवसीय मिलिटरी मेडिसिन कॉन्फ्रेंस में हिस्सा नहीं ली और सिर्फ कल यानी गुरुवार को आयोजित में डिनर में पहुंच गए।' इस सम्मेलन के पहले दिन 27 विदेशी और 40 भारतीय अधिकारियों ने हिस्सा लिया था। उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान के पीएम से लेकर मंत्री गैर-जरूरी प्रतिक्रिया दे रहे हैं और यहां तक कि इसरो के चंद्रयान मिशन को आखिरी वक्त पर मिली असफलता के बाद ट्विटर पर भारतीय वैज्ञानिकों का मजाक उड़ाते नजर आए। भारत के अंदरुनी मामले में बोलते-बोलते पाकिस्तानियों की जुबान इस कदर फिसली कि कभी अपने विज्ञान तो कभी अंग्रेजी के अल्पज्ञान के कारण सार्वजनिक मंच पर ट्रोल हो गए। गुरुवार को ही पीएम इमरान खान ने दावा करते हुए कहा कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 58 देशों ने कश्मीर को लेकर उनका समर्थन जताया है, जबकि हकीकत यह है कि मानवाधिकर परिषद के सिर्फ 47 सदस्य हैं। गलत तथ्यों के साथ दलील देते पकड़े जाने के बाद इमरान की पाकिस्तान में भी जमकर आलोचना हो रही है।

Show more
content-cover-image
Conference छोड़, इनके लिए तो Dinner सबसे ज़रूरी !मुख्य खबरें