content-cover-image

Birthday Special: Narendra Modi; देश ही है जिनका परिवार

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Birthday Special: Narendra Modi; देश ही है जिनका परिवार

बीजेपी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर पूरे देश में सेवा सप्ताह मना रही है. 14 सितंबर से शुरू ये आयोजन 20 सितंबर तक चलेगा. अमित शाह एम्स से यह आयोजन शुरू कर चुके हैं . शनिवार को वे जनरल वार्ड में भर्ती मरीजों को फल वितरण करने गए थे और वहां सफाई भी की. बीजेपी महासचिव अरुण सिंह ने यह जानकारी पहले ही दे दी थी. आयोजन के तहत देश में ब्लड डोनेशन कैंप, आई टेस्ट, अनाथालयों में काम किया जा रहा है. तीन संकल्प लिए गए हैं - स्वच्छता अभियान, सिंगल यूज़ प्लास्टिक का इस्तेमाल न करना और जल संचय का काम . दिव्यांगों की मदद के लिए भी दानदाताओं से अनुरोध किया गया है . कुल मिला कर देशवासियों को सेवा के एक भाव में बाँधने की कोशिश की जा रही है. और इसके लिए PM के जन्मदिन से बेहतर मौका क्या होगा. ये कहना गलत नहीं कि नरेन्द्र मोदी अब तक के एकमात्र ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने न तो केवल अपने जन्मदिन को बल्कि अपने पूरे जीवन को देश और राजनीति के नाम किया है. ऐसा नहीं है की उनके सारे कदम केवल पार्टी हित में होते हैं बल्कि नरेन्द्र मोदी को देश के प्रति उनके पवित्र सेवा भाव के लिए भी जनता बहुत मानती है. भारत के लिए उन्होंने जितना सोचा और किया है अब तक, उससे ज्यादा भारतीयों ने उन्हें प्यार और सम्मान दिया है, मोदी लहर तो जो एक बार चली वो अब तक छायी हुयी है. वो अपने स्वर्गीय पिता के बारे में बात कर चुके हैं, अपनी माताजी का भी हर ख़ास अवसर पर आशीर्वाद लेने पहुँच जाते हैं. लेकिन इसके अलावा मोदी जी ने ये कई बार ज़ाहिर किया है कि भारत वर्ष उनके लिए उनका परिवार है. और इस बात का प्रमाण भी है सुख हो या दुख, सफलता हो या नाकामी, हंसी हो या आंसूं , हर स्थिति में उन्होंने देशवासियों को खुद से जोड़ा और बेहिचक अपनी भावनाएं लोंगो के सामने रखी हैं. ऐसी की कुछ पलों की स्मृतियाँ हैं उनके भाषण , जब-जब वो बोलते हैं, लोग उनकी बात और एहसास से खुद को जोड़ने से रोक नहीं पाते. यही कुछ यादें हम आज आपके सामने पेश करने जा रहे हैं, क्यूंकि उनकी आवाज़ ही उनकी भावनाओं को आपके सामने व्यक्त करने के लिए पर्याप्त हैं. Emotions की बात है तो नाप- तौल के ही सही लेकिन उन्होंने बेहिचक अपना गुस्सा भी उस वक़्त ज़ाहिर किया जब देश को इसकी ज़रूरत थी, और देशवासियों को अपने प्रधानमंत्री से उम्मीद. उन्होंने कभी जनता को निराश नहीं किया. 17 sep, 1950 के दिन गुजरात के वडनगर में दामोदरदास मूलचंद और हीराबेन के घर एक पुत्र पैदा हुआ था नाम रखा गया नरेंद्र मोदी। यही आगे चलकर गुजरात का मुख्यमंत्री और आज भारत का प्रधानमंत्री है। मोदी पहले ऐसे प्रधानमंत्री है जो आजादी के बाद पैदा हुए हैं और आज वे अपना 69वां जन्मदिन मना रहे हैं. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नरेंद्र मोदी की कुंडली काफी हद तक बाल गंगाधर तिलक से मिलती है। सन 1958 में दिवाली के दिन गुजरात में कुछ बच्चों ने बाल स्वयंसेवक की शपथ ली थी, उनमें से एक बच्चा 8 साल का नरेन्द्र मोदी भी था। और शपथ भी इतनी असरदार कि 20 साल की उम्र में अपनी 2 वर्ष की शादी को त्याग कर, घर छोड़कर , उन्होंने सन्यासी बनने का फैसला कर लिया। कुछ लोग उनकी इस छोटी उम्र में लिए बड़े फैसले के विरोध में भी बातें करते हैं. लेकिन इस कठोर निश्चय को उनकी देशसेवा की भावना से नापा जाए , तो इसे पूरी तरह से पलायन नहीं , बल्कि उनके त्याग के रूप में भी देखा जा सकता है . तो श्रोताओं, आज मोदी जी के जन्मदिवस पर आप भी उन्हें नीचे comment box में बधाई दे सकते हैं .

Show more
content-cover-image
Birthday Special: Narendra Modi; देश ही है जिनका परिवारमुख्य खबरें