content-cover-image

Spl: दूरबीन से करते हैं जिसके दर्शन; करतारपुर: क्यों है ख़ास?

Khabri Editorials & Interviews

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Spl: दूरबीन से करते हैं जिसके दर्शन; करतारपुर: क्यों है ख़ास?

करतारपुर कॉरिडोर से जुड़े तकनीकी व अन्य महत्वपूर्ण मामलों पर अंतिम निर्णय लेने के लिए भारत-पाकिस्तान के अधिकारियों के बीच जुलाई 2019 में दूसरे दौर की बैठक वाघा बॉर्डर पर हुयी। इस बैठक में भाग लेने के लिए भारत और पाक के प्रतिनिधिमंडल वाघा बार्डर पहुंचे थे, 80 फीसदी मामलों में दोनों पक्षों की सहमति भी बन गई ।और शेष बचे मुद्दों पर सहमति बनाने के लिए आने वाले समय में एक और बैठक होने के अनुमान लगाये जा रहे हैं. भारत की ओर से प्रतिदिन पांच हजार श्रद्धालुओं को गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के दर्शन की अनुमति, गुरुपर्वों और विशेष ऐतिहासिक मौकों पर 10 हजार श्रद्धालुओं को गुरुद्वारा साहिब के दर्शन की मांग की गई थी। बैठक में श्रद्धालुओं की एंट्री फीस पर भी चर्चा हुई।

Show more

content-cover-image
Spl: दूरबीन से करते हैं जिसके दर्शन; करतारपुर: क्यों है ख़ास?Khabri Editorials & Interviews