content-cover-image

Alarming Situation से गुजर रही है Punjab की मिट्टी

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Alarming Situation से गुजर रही है Punjab की मिट्टी

कृषि के मामले में पंजाब को देश के अन्न का भंडार कहा जाता है. लेकिन यदि ध्यान ना दिया गया तो देश के अन्न के भंडार का दामन बंजर हो सकता है. धरती की उपजाऊ शक्ति को बनाए रखने वाले जरूरी तत्व पंजाब की धरती से लगातार कम हो रहे हैं. कृषि विभाग ने प्रदेश भर से करीब 22 लाख खेतों से मिट्टी लेकर निरीक्षण किया तो जरूरी तत्वों की कमी की बात सामने आई. हालांकि कृषि विभाग ने इस कमी को दूर करने के लिए किसानों को जागरूक करने की कवायद शुरू कर दी है. पोषक तत्वों की कमी खेत में फसल के अवशेष को आग लगाने, किसान की अज्ञानता और रासायनिक खाद और कीटनाशकों का अधिक प्रयोग करना है. पंजाब के खेतों की मिट्टी को सोना उगलने वाली कहा जाता है और देश के अन्न भंडार के केंद्रीय पूल में पंजाब 25 फीसदी गेंहू और 40 फीसदी धान का योगदान देता है. लेकिन पंजाब की सोना उगलने वाली मिट्टी की गुणवत्ता में पिछले कुछ समय से दुखद बदलाव आ रहा है. रासायनिक खाद , कीटनाशक पदार्थों के अंधाधुंध इस्तेमाल और खेतों में फसलों के अवशेष को आग लगाने जैसे कई कारणों से पंजाब के खेतों की जमीन में जमीन की उपजाऊ शक्ति कायम रखने वाले जरूरी तत्वों में भारी कमी आई है. कृषि विभाग ने प्रदेश भर से करीब 22 लाख खेतों से मिट्टी के सैंपल लेकर निरीक्षण किया तो यह बात सामने आई है.

Show more
content-cover-image
Alarming Situation से गुजर रही है Punjab की मिट्टीमुख्य खबरें