content-cover-image

दुनिया साथ नहीं आई, तो अप्रत्याशित रूप से बढ़ेंगे तेल के दाम

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

दुनिया साथ नहीं आई, तो अप्रत्याशित रूप से बढ़ेंगे तेल के दाम

ईरान के साथ चल रहे विवाद के बीच सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने कहा है कि अगर ईरान को रोकने के लिए दुनिया साथ नहीं आई तो तेल के दाम अप्रत्याशित रूप से बढ़ेंगे। इसी महीने की शुरुआत में सऊदी की तेल कंपनी अरामको की दो रिफाइनरियों पर ड्रोन और मिसाइल हमले के बाद प्रिंस सलमान ने पहली बार इस मुद्दे पर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि प्रिंस सलमान ने कहा कि पूरी दुनिया के देशों को ईरान के खिलाफ कार्रवाई में शामिल होना होगा, वरना इससे सभी को नुकसान पहुंच सकता है। मालूम हो कि तेल संयंत्रों पर हुए हमले की जिम्मेदारी यमन के हूती विद्रोहियों ने ली थी, जबकि सऊदी अरब ने ईरान को इसका जिम्मेदार ठहराया था। वहीं, अमेरिका ने भी इन हमलो के लिए ईरान को जिम्मेदार बताया था। अमेरिका ने ईरान के खिलाफ लगाए गए प्रतिबंधों में बढ़ोतरी कर दी है। बीते 20 सितंबर को अमेरिका ने ईरान के केंद्रीय बैंक और एक डेवलपमेंट फंड को भी प्रतिबंध के दायरे में ले लिया गया है। सऊदी के तेल संयंत्रों पर हुए हमले के बाद यह अमेरिका की बड़ी कार्रवाई है। प्रिंस सलमान ने कहा कि ईरान के खिलाफ लड़ाई में दुनिया साथ नहीं आई तो सभी प्रभावित होंगे। एक अमेरिकी चैनल को दिए गए साक्षात्कार में सलमान ने कहा कि सऊदी अरब के तेल संयंत्रों पर हमला ईरान की तरफ से युद्ध की शुरुआत थी। इसके बावजूद वे युद्ध नहीं करना चाहते। वह ईरान के साथ विवाद का सैन्य नहीं बल्कि राजनीतिक हल चाहते हैं। उन्होंने कहा कि युद्ध से पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि ईरान की वजह से तेल की सप्लाई बाधित होगी और तेल के दाम इतने ऊपर पहुंच जाएंगे, जितने हमने अपने पूरे जीवन में नहीं देखे होंगे।

Show more
content-cover-image
दुनिया साथ नहीं आई, तो अप्रत्याशित रूप से बढ़ेंगे तेल के दाममुख्य खबरें