content-cover-image

Uttarakhand Regional News 13th October

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Uttarakhand Regional News 13th October

अनुशासन का डंडा दिखाने और बार-बार चेतावनी देने के बाद भी भाजपा के कुछ विधायकों की जुबान काबू में नहीं हैं। वे कोई न कोई विवादित बयान देकर संगठन की जान आफत में डाल रहे हैं। उनके मामलों पर पार्टी नेतृत्व को सफाई देते नहीं बन रहा है। अभी ज्वालापुर के विधायक सुरेश राठौर के विवादास्पद बयान की तपिश ठंडी भी नहीं पड़ी थी कि सोशल मीडिया पर पार्टी के दबंग विधायक राजकुमार ठुकराल का एक विवादित वीडियो वायरल हो गया है। इस वीडियो में ठुकराल एक समुदाय विशेष पर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी कर रहे हैं। संगठन ने उनके इस वीडियो का संज्ञान लेते हुए इसका परीक्षण कराने का फैसला किया है। उधर, ठुकराल ने सफाई दी है कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो 2011 का है। वीडियो के बहाने कांग्रेस ने भाजपा पर सामाजिक समरसता खराब करने का आरोप लगाया है। जीआईसी डीनापानी में अध्ययनरत कक्षा सातवीं की एक छात्रा को सिर में गंभीर चोट के चलते शनिवार को परिजनों द्वारा जिला अस्पताल लाया गया। इस दौरान करीब तीन से चार घंटे तक छात्रा बेहोश रही। कुछ देर बाद जब छात्रा को होश आया तो डॉक्टर ने छात्रा का सिटी स्कैन कराने को कहा। छात्रा का आरोप है कि उसे स्कूल के प्रधानाचार्य ने सिर पर डंडा मारा। जानकारी के अनुसार कपड़खान निवासी छात्रा ममता जीआईसी डीनापानी में अध्ययनरत है। छात्रा ने बताया कि बीते दिन खाली पीरियड के समय स्कूल के एक अध्यापक ने कक्षा सातवीं के सभी बच्चों से खेल मैदान से कूड़ा हटाने को कहा था। गंगोत्री-1 पीक पर आरोहण के दौरान एवलांच (बर्फीला तूफान) की चपेट में आने से आईटीबीपी के एक पर्वतारोही की मौत हो गई। मृत हिमवीर के शव को हेलीकॉप्टर की मदद से बेस कैंप से देहरादून ले जाया गया। खराब मौसम और एक पर्वतारोही की मौत के बाद आईटीबीपी का दल अभियान स्थगित कर लौटने की तैयारी कर रहा है। सैन्य सम्मान के साथ शव को पर्वतारोही के घर लेह लद्दाख पहुंचाया जाएगा। बीते 29 सितंबर को आईटीबीपी का 23 सदस्यीय दल गंगोत्री से गंगोत्री-1 (6674 मीटर) पीक पर आरोहण के लिए रवाना हुआ था। इस दल में 12 पर्वतारोहियों के साथ ही 11 सहयोगी स्टाफ भी था। गंगोत्री से रुद्रगैरा नदी के रास्ते आगे बढ़ते हुए इस दल ने नाला कैंप और रुद्रगैरा बेस कैंप से आगे बढ़कर समुद्र सतह से 4500 मीटर ऊंचाई पर बेस कैंप स्थापित किया था। इससे आगे एडवांस बेस कैंप और समिट कैंप स्थापित कर यह दल हिमशिखर पर आरोहण की तैयारी कर रहा था, लेकिन क्षेत्र में बीते दिनों बर्फबारी होने के कारण दल को कुछ दिन इंतजार करना पड़ा।

Show more
content-cover-image
Uttarakhand Regional News 13th Octoberमुख्य खबरें