content-cover-image

Stay Safe Special: Internet पर ना बनें बुद्धू ! बचें ऐसे...

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Stay Safe Special: Internet पर ना बनें बुद्धू ! बचें ऐसे...

Doston, internet ka upyog karte समय किसी भी browser के address bar में आपने http या फिर https लिखा ज़रूर देखा होगा। अगर इन दोनों में से कोई भी वहां उपस्थित नहीं हों तो ज़्यादा सम्भावना यही होगी कि वो http ही है। आइए जानते हैं कि इन दोनों प्रचलित terms का क्या मतलब है, ये अलग कैसे हैं। संक्षेप में, ये दोनों ही वो protocol ya adarsh हैं जिनका प्रयोग करके किसी ख़ास वेबसाइट की सूचनाओं को web server और web browser द्वारा एक्सचेंज किया जाता है। इस तरह से देखें तो दोनों के कार्य एक ही हैं। लेकिन फिर दोनों में अंतर क्या है? https में एक अतिरिक्त 's' है और ये इसे ज़्यादा secure बनाता है। jee haan, us extra 's' ka matlab hai secure yaani safe yaani surakshit. अगर संक्षेप में कहें तो https औत http के बीच यही अंतर है कि https बहुत ही ज्यादा सुरक्षित है। Hyper Text Trasfer Protocol यानी HTTP एक application प्रोटोकल है. internet ka koi bhi data, server se hamare browser tak http language mein hi hamare computer tak pahunchta hai jisko browser apni original bhasha mein anuvad kar leta hai taki ham use asaani se padh sakein. अपनी saralta के कारण http इन्टरनेट पर data ट्रान्सफर के लिए सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाने वाला प्रोटोकॉल है लेकिन http के उपयोग से एक्सचेंज हुआ data उतना सिक्योर नहीं होता जितना कि इसे होना चाहिए।

Show more
content-cover-image
Stay Safe Special: Internet पर ना बनें बुद्धू ! बचें ऐसे...मुख्य खबरें