content-cover-image

Ayodhya Case: चीफ जस्टिस- 'हम इस केस को भूल चुके, आप भी भूल जाइए'

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Ayodhya Case: चीफ जस्टिस- 'हम इस केस को भूल चुके, आप भी भूल जाइए'

अयोध्या केस (Ayodhya Case) में एक वकील ने मोल्डिंग ऑफ रिलीफ पर अपना दो पेज का नोट दायर करने की अनुमति मांगी. इस पर चीफ जस्टिस ने पूछा 'क्या अयोध्या मामला अभी भी चल रहा है? नहीं, अदालत ने कहा, इस मामले में फैसला सुरक्षित किया जा चुका है. हम अब इस केस को भूल चुके हैं. आप भी भूल जाइए.' इससे पहले 70 साल पुराने इस मामले में 21 अक्टूबर (सोमवार) को मुस्लिम पक्षकारों के वकील ने मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को सूचना दी कि उन्होंने मोल्डिंग ऑफ रिलीफ सीलबंद लिफाफे में फाइल कर दी और सभी पक्षों को भी दे दिया गया है. मुस्लिम पक्षकारों के वकील एजाज मकबूल ने कहा कि कई पार्टियों ने सीलबंद पर ऐतराज जताया था. इसलिये हमने सभी पार्टी को सर्व कर दिया है. कोर्ट ने कहा कि आप इसे रिकॉर्ड पर ला सकते है. मुस्लिम पक्ष ने लिखित जवाब में सब कुछ कोर्ट पर छोड़ते हुए ये उम्मीद जताई है कि अदालत इस देश की विविध धर्मों/ संस्कृतियो को समेटे हुए विरासत को ध्यान में रखते हुए फैसला दे. ये भी ध्यान रहे कि आने वाली पीढि़यां इस फैसले को कैसे देखेंगी. सीलबंद लिफाफे में नोट देने पर हिन्दू पक्ष के विरोध के बाद मुस्लिम पक्ष ने मोल्डिंग ऑफ रिलीफ़ से जुड़ा नोट सार्वजनिक किया.

Show more

content-cover-image
Ayodhya Case: चीफ जस्टिस- 'हम इस केस को भूल चुके, आप भी भूल जाइए'मुख्य खबरें