content-cover-image

Delhi: अफसरों के समझाने से भी नहीं माने पुलिसकर्मी, आना पड़ा पुलिस कमिश्‍नर को

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Delhi: अफसरों के समझाने से भी नहीं माने पुलिसकर्मी, आना पड़ा पुलिस कमिश्‍नर को

तीस हजारी (Tis Hazari) में दिल्‍ली पुलिसकर्मियों (Delhi Police) और वकीलों (Lawyers) के बीच हुए संघर्ष के बाद कड़कड़डूमा और साकेत कोर्ट में भी वकीलों द्वारा पुलिसवालों से मारपीट किए जाने की घटनाओं से दिल्‍ली पुलिस में आक्रोष है. नतीजतन मंगलवार को सैंकड़ों पुलिसकमियों ने पुलिस हेडर्क्‍वाटर के बाहर जमकर प्रदर्शन किया. पहले पुलिस के आला अफसर उनका गुस्‍सा शांत कराने की कोशिश कराते रहे, लेकिन प्रदर्शनकारी पुलिसकर्मी नहीं माने. हालात काबू में न होते देख पुलिस कमिशनर अमूल्‍य पटनायक (Amulya Patnaik) को पुलिस मुख्‍यालय से बाहर आना पड़ा और प्रदर्शन कर रहे पुलिसवालों को समझाना पड़ा. उन्‍होंने 'वी वॉन्‍ट जस्टिस' की लगातार नारेबाजी कर रहे पुलिसकर्मियों से जोर देकर कहा कि यह परीक्षा, अपेक्षा और प्रतीक्षा की घड़ी है, इसलिए न्‍यायिक जांच की रिपोर्ट का इंतजार करें और अपने काम पर वापस लौटें. साथ ही उन्‍होंने कहा कि साकेत कोर्ट में जिस तरह पुलिसकर्मी के साथ वकीलों ने मारपीट की, उस पर कानूनन कार्रवाई की जाएगी. 'वी वॉन्‍ट जस्टिस' के नारे लगा रहे दिल्‍ली पुलिसकर्मियों और उनके परिजनों को समझाने के लिए पुलिस कमिशनर पटनायक दोपहर 12.40 बजे PHQ के बाहर आए. नारेबाजी की वजह से पहले काफी देर तक वह बोल नहीं पाए, लेकिन बाद में उन्‍होंने कहा कि 'दिल्‍ली पुलिस के मेरे साथियों, भाईयों और बहनों. सबसे पहले आपसे अपील करना चाहूंगा कि आप शांति बनाए रखें. मुझे पूरा विश्‍वास है कि आप लोग शांति बनाए रखेंगे.

Show more
content-cover-image
Delhi: अफसरों के समझाने से भी नहीं माने पुलिसकर्मी, आना पड़ा पुलिस कमिश्‍नर कोमुख्य खबरें