content-cover-image

पान मसाला और फेयरनेस क्रीम के विज्ञापनों में नहीं होगा सैनिकों का इस्तेमाल

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

पान मसाला और फेयरनेस क्रीम के विज्ञापनों में नहीं होगा सैनिकों का इस्तेमाल

विज्ञापन में सेना को दिखाने के संबंध में भारतीय सेना ने गाइडलाइंस जारी की है. अब विज्ञापनों में सैनिकों को दिखाने से पहले सेना की इजाजत लेनी होगी. पान मसाला और फेयरनेस क्रीम के विज्ञापनों में सैनिकों का इस्तेमाल नहीं होगा. कुछ दिनों पहले पान मसाला का विज्ञापन आया था जिसमें एक्टर को सेना की वर्दी में दिखाया गया थ. कुछ इसी तरह की स्थिति, फेयरनेस क्रीम के विज्ञापनों में भी देखने को मिली थी. इन विज्ञापनों को भारतीय सेना ने गंभीरता से लिया है. भारतीय सेना का मानना है कि इस तरह के विज्ञापनों से उसकी छवि धूमिल हो रही है. इसके लिए आर्मी ने गाइडलाइन जारी की है कि अगर आर्मी यूनिफॉर्म में कोई भी विज्ञापन जारी किया जाएगा तो उसकी इजाजत सेना से लेनी होगी. यह गाइडलाइन टेलीविजन और सोशल मीडिया के साथ बैनर्स वाले सभी विज्ञापनों पर लागू होगी. गाइड लाइन जारी करने से पहले, सेना ने इस मामले को भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (ASCI) के सामने उठाया था. सेना के सूत्रों का कहना है कि उसे पिछले कुछ महीनों में कई शिकायतें मिली थीं जिसमें एक्टरों को सेना की वर्दी में दिखाया गया है. खास करके पान मसाला और फेयरनेस क्रीम का विज्ञापन करते हुए दिखाया गया.

Show more
content-cover-image
पान मसाला और फेयरनेस क्रीम के विज्ञापनों में नहीं होगा सैनिकों का इस्तेमालमुख्य खबरें