content-cover-image

Nirbhaya Case: मुसीबत में फंसा चश्मदीद, मुजरिम ने की थाने में शिकायत

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Nirbhaya Case: मुसीबत में फंसा चश्मदीद, मुजरिम ने की थाने में शिकायत

2012 में दुनिया को दहला देने वाला निर्भया हत्याकांड एक बार फिर से सुर्खियों में है. इसकी वजह होगी दिल्ली पुलिस को दी गई एक खास शिकायत. दक्षिण पश्चिम दिल्ली जिले के डीसीपी और आर.के. पुरम थाने में यह शिकायत, निर्भया हत्याकांड में फांसी की सजा पाए चार में से एक मुजरिम के पिता की ओर से दी गई है. इस दलील के साथ कि निर्भया कांड में जिसे कल तक निर्भया का दोस्त और बतौर इकलौता गवाह अदालतों में पेश किया गया था , दरअसल वह कथित तौर पर झूठा और बिकाऊ है. आरोप के मुताबिक, तमाम अखबारों और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में इस कथित गवाह ने अब तक जो भी बयान दिए, वे सब मनगढ़ंत और पैसे के बलबूते लिए-दिए गए हैं. दरअसल, हीरा लाल गुप्ता का ही बेटा पवन कुमार गुप्ता दिल्ली की मंडोली स्थित जेल नंबर-14 में बंद है. पवन कुमार गुप्ता, निर्भया हत्याकांड में फांसी की सजा पाए चार दोषियों (मुकेश, अक्षय कुमार सिंह, विनय कुमार शर्मा) में से एक है. शिकायत में आगे मुजरिम के पिता ने दिल्ली पुलिस द्वारा की गई उस जांच को ही कटघरे में खड़ा कर दिया है, जिस जांच के बलबूते निर्भया कांड के मुलजिमों को फांसी की सजा मुकर्रर कर दी गई. शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत के साथ उन 'क्लिपिंग्स' को भी लगाया है, जो सोशल मीडिया पर प्रकाशित हुई थीं. शिकायत में टीवी चैनल के उस पूर्व संपादकीय अधिकारी का नाम भी खोला गया है, जिसने निर्भया हत्याकांड के मुलजिमों को फांसी की सजा मुकर्रर हो जाने के कई साल बाद मुंह खोला.

Show more
content-cover-image
Nirbhaya Case: मुसीबत में फंसा चश्मदीद, मुजरिम ने की थाने में शिकायतमुख्य खबरें