content-cover-image

Bhopal Gas Tragedy: पीड़ितों के हक की लड़ाई लड़ने वाले शख्स का निधन

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Bhopal Gas Tragedy: पीड़ितों के हक की लड़ाई लड़ने वाले शख्स का निधन

भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ितों को इंसाफ दिलाने के लिए लंबी लड़ाई लड़ने वाले समाजिक कार्यकर्ता अब्दुल जब्बार का गुरुवार को निधन हो गया. अब्दुल जब्बार पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे. इलाज के लिए उन्हें भोपाल के अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बता दें कि तीन दिसंबर 1984 को भोपाल में एक भयानक दुर्घटना हुई थी. भोपाल स्थित यूनियन कार्बाइड की फैक्ट्री से जहरीली मिथाइल आइसोसाएनेट गैस लीक हुई, जिससे हजारों लोगों की जान चली गई. साथ ही बहुत सारे लोग शारीरिक अपंगता के शिकार हो गए. इंसाफ की लड़ाई लड़ते-लड़ते अब्दुल जब्बार नेे अपने माता-पिता और भाई को खो दिया. ये सभी गैस त्रासदी के बाद के प्रभावों से पीड़ित थे. गैस त्रासदी के अगली सुबह से ही अब्दुल जब्बार पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए और उन्हें इंसाफ दिलाने के लिए आवाज उठाई. अपने एनजीओ के जरिए वह पीड़ितों के परिवार की मदद करते थे. अब्दुल जब्बार की कोशिशों की वजह से ही सुप्रीम कोर्ट ने अपना वह फैसला बदला था, जिसमें यूनियन कार्बाइड के डायरेक्टर को आपराधिक उत्तरदायित्व से मुक्त कर दिया गया था. जब्बार की ही कोशिशों और तत्कालीन प्रधानमंत्री वीपी सिंह के वजह से कार्बाइड के डायरेक्टर की आपराधिक जिम्मेदारी फिर से निर्धारित की गई. अब्दुल जब्बार 'भोपाल गैस पीड़ित महिला उद्योग संगठन' के संयोजक थे. साल 2018 में गैस त्रासदी की 34वीं बरसी पर गैस पीड़ितों के साथ अब्दुल जब्बार ने केंद्र और राज्य सरकारों के रवैए पर नाराजगी जाहिर की थी.

Show more
content-cover-image
Bhopal Gas Tragedy: पीड़ितों के हक की लड़ाई लड़ने वाले शख्स का निधनमुख्य खबरें