content-cover-image

National Press Day '19: कुछ ऐसा है इस दिन का महत्व !

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

National Press Day '19: कुछ ऐसा है इस दिन का महत्व !

वर्तमान में पत्रकारिता का क्षेत्र बहुत व्यापक हो चुका है. जन-जन तक सूचनात्मक, शिक्षाप्रद और मनोरंजनात्मक संदेश पहुंचाने का एक महत्वपूर्ण जरिया है. इस बात से तो हर कोई वाकिफ है कि पत्रकारिता तथ्यों पर आधारित होती है, लेकिन तथ्यों को तोड़-मरोड़कर, बढ़ा-चढ़ाकर या उसे घटाकर, सनसनी बनाकर लोगों तक पहुंचाने की प्रवृत्ति आज पत्रकारिता में बहुत ज्यादा बढ़ने लगी है. प्रेस की स्वतंत्रता और जिम्मेदारियों की तरफ ध्यान आकर्षित करने के लिए ही हर साल 16 नवंबर को National Press Day मनाया जाता है. यह दिवस एक स्वतंत्र और जिम्मेदार प्रेस की मौजूदगी का प्रतीक है. विश्व में आज करीब 50 देशों में प्रेस परिषद या मीडिया परिषद मौजूद हैं. पहले प्रेस आयोग ने भारत में प्रेस की स्वतंत्रता की रक्षा और पत्रकारिता में उच्च आदर्श को बरकरार रखने के मकसद से एक प्रेस परिषद की कल्पना की थी. इसके बाद 4 जुलाई 1966 को भारत में प्रेस परिषद की स्थापना की गई, जिसमें 16 नवंबर 1966 से विधिवत रूप से अपना कार्य करना शुरू कर दिया. तब से हर साल 16 नवंबर को राष्ट्रीय प्रेस दिवस मनाया जाने लगा । राष्ट्रीय प्रेस दिवस पत्रकारों को सशक्त बनाने के मकसद से खुद को फिर से समर्पित करने का अवसर देता है. दरअसल, आजकल अखबारों और समाचार चैनलों में दिखाई जानेवाली खबरों में पक्षधरता और असंतुलन अक्सर देखने को मिलता है. इससे पत्रकारिता में एक अस्वस्थ्यकर प्रवृत्ति विकसित होने लगी है. ज्ञात हो कि समाचार विचारों की जननी होती है, इसलिए समाचारों पर विचारों का स्वागत किया जाना चाहिए, लेकिन विचारों पर आधारित समाचार पत्रकारिता के लिए किसी अभिशाप से कम नहीं है. गौरतलब है कि पत्रकारिता आजादी से पहले एक मिशन हुआ करती थी. उस दौरान पत्रकारिता अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ जन-जन को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण हथियार हुआ करती थी. मीडिया को समाज का दर्पण माना जाता है. प्रेस समाज की हूबहू तस्वीर समाज के सामने पेश करने का काम करता है, लेकिन यही मीडिया कभी-कभी समाज की उल्टी, अवास्तविक, काल्पनिक और विकृत तस्वीरें भी समाज के सामने पेश कर देता है. इसीलिए पत्रकारिता को समाज काअत्यधिक शसक्त स्तम्भ माना गया है। इसलिए ये जरूरी है कि पत्रकारिता को खिलौना समझ इसमें हर किसी को हाथ नहीं आजमाना चाहिए बल्कि; इसका सही इस्तिमाल एक बुद्धिमत्ता और सहनशीलता से परिपूर्ण व्यक्ति ही कर सकता है। happy world press day !

Show more
content-cover-image
National Press Day '19: कुछ ऐसा है इस दिन का महत्व !मुख्य खबरें